प्रशासन गांवों के संग अभियान:पट्टे जारी करने में टोंक राज्य में चौथे नंबर पर आया, मालपुरा में 6750 पट्टे बने

टोंकएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टोंक। प्रशासन गांवो के संग अभियान के दौरान कलेक्टर  चिन्मयी गोपाल पट्टे वितरित करते हुए। - Dainik Bhaskar
टोंक। प्रशासन गांवो के संग अभियान के दौरान कलेक्टर चिन्मयी गोपाल पट्टे वितरित करते हुए।
  • देवली में सबसे ज्यादा 9 हजार 382 पट्‌टे वितरित किए

राज्य में प्रशासन गांव के संग अभियान के तहत विभिन्न प्रकार के जारी पट्टों में टोंक चौथे स्थान पर पहुंच गया है। जिले में सबसे अधिक पट्टे देवली में 9382 बने, मालपुरा में 6750 पट्‌टे बने हैं। जबकि अब तक जिलेभर में कुल 35 हजार 850 पट्टे बन चुके हैं। जानकारी के अनुसार राज्य में सबसे अधिक प्रतिदिन औसत पट्‌टे 224 जारी करने में धौलपुर पहले, 181 पट्टे जारी कर दूसरे नंबर पर कोटा, 168 पट्टे जारी कर तीसरे पर बूंदी एवं राज्य के 33 जिले में 156 पट्टे जारी कर चौथे नंबर पर टोंक ने अपना स्थान बनाया है। उल्लेखनीय है कि प्रशासन गांव के संग अ भियान के तहत प्रशासन नियमित मॉनिटरिंग करने के कारण जिले में पट्टे बनाए जाने में तेजी रही है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी यहां पर बोसरियां ग्राम पंचायत में प्रशासन गांव के संग शिविर का निरीक्षण कर, अधिकारियों से इस संबंध में जानकारी ली थी। यहीं कारण है कि राज्य में टोंक चौथे नंबर पर है।

इन समस्याओं के समाधान में टोंक रहा अव्वल :
जिले में दो अक्टूबर से शुरू हुए प्रशासन गांवों के संग अभियान में विभिन्न प्रकार के पट्टे बनाए जाने के लिए ग्रामीण भी रुिच देखी गई। वहीं कई समस्याओं के समाधान में भी टोंक ने राज्य में बेहतर मुकाम हासिल किया है। हैंडपंप की मरम्मत, चिकित्सा उपचार में, क्षतिग्रस्त सड़कों की समस्या समाधान में पहले स्थान पर रहा है।

खबरें और भी हैं...