पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

खूनी संघर्ष:रोहित गांव में वाहनों को साइड देने के विवाद में खूनी संघर्ष, 6 लहुलूहान

उनियारा6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • दो की हालत गंभीर, दोनों पक्षों के छह गिरफ्तार

रोहित गांव में शनिवार देर रात साइड देने की बात को लेकर खूनी संघर्ष हो गया। इसमें 6 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। दो जनों की हालत गंभीर होने पर टोंक रैफर किया है। पुलिस ने घायलों को अस्पताल पहुंचाया। दोनों पक्षों की ओर से 13 जनों के खिलाफ परस्पर मामले दर्ज कराए गए हैं। जिसके बाद 6 जनों को शांतिभंग में गिरफ्तार किया है।थाना प्रभारी राधाकिशन मीणा ने बताया कि रोहित गांव निवासी किस्तूरचंद मीणा ने मामला दर्ज कराया कि वह अपने रिश्तेदारों के साथ वाहन से रोहित गांव जा रहे थे।

रोहित गांव में ही वाहन को साइड देने की बात को लेकर उस्मानपुरा गांव निवासी पूर्व सरपंच हरिराम मीणा, मैनेजर मीणा, झुंडवा निवासी दीपक मीणा, मुकेश मीणा, खुशी राम मीणा, रवि मीणा और रोहित गांव निवासी शंकर मीणा मारपीट कर दी। इसमें किस्तूरचंद, बुद्धि प्रकाश, हेमराज मीणा, रामकेश मीणा गंभीर रूप से घायलहो गए।इसी प्रकार उस्मानपुरा निवासी पूर्व सरपंच हरिराम मीणा ने मामला दर्ज कराया कि वह अपने वाहन में उस्मानपुरा गांव जा रहा था।

रोहित गांव में तेजाजी मंदिर के पास वाहन को साइड देने की बात को लेकर किस्तूरचंद मीणा, हेमराज मीणा, रमेश मीणा, लोकेश मीणा, बुद्धि प्रकाश मीणा, विजय मीणा ने हमला कर मारपीट कर दी। इस हमले में कार चालक दीपक की उंगली कट गई। मारपीट के दौरान सोने की चेन व 23 हजार रुपए छीन कर ले गए।थाना प्रभारी राधाकिशन मीणा ने बताया कि घायलों को उनियारा अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद पूर्व सरपंच हरिराम मीणा व चालक दीपक मीणा की हालत को देखते हुए टोंक रैफर कर दिया। प्रकरण में खुशीराम मीना, रविन्द्र उर्फ रवि, मुकेश, रामजीलाल, शंकर, आत्माराम को गिरफ्तार किया है।

खबरें और भी हैं...