खेजड़ी के पेड़ से फंदा लगाकर किया सुसाइड:सुसाइड नोट में परिवार से मांगी माफी, 3 दिन से था गायब

जैसलमेर2 महीने पहले
जैसलमेर। मृतक प्रह्लाद सिंह राजपुरोहित।

खेजड़ी के पेड़ से फंदा लगाकर एक युवक ने सुसाइड कर लिया। एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें परिवार से माफी मांगी है। मृतक एक स्टील की कंपनी में काम करता था। पुलिस ने पोस्टमॉर्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। हादसा जैसलमेर के हमीरा गांव में हुआ।

सदर थाना प्रभारी जेठा राम ने बताया कि मोहन गढ़ के बांकल सर गांव के रहने वाले प्रह्लाद राम ने सुसाइड कर लिया। वह गांधीधाम से 27 नवंबर को घर से कंपनी में जाने का कहकर निकला था लेकिन कंपनी नहीं पहुंचा। कंपनी वालों ने घर फोन करके बताया कि प्रह्लाद सिंह ऑफिस नहीं आया। घर वालों ने प्रह्लाद सिंह की तलाश की लेकिन वह नहीं मिला। प्रह्लाद सिंह की पत्नी के मोबाइल में 1 हजार रुपए खाते से निकलने का मैसेज आया। तब जानकारी मिली कि जैसलमेर जाती बस की टिकट के लिए रुपए काटा गया है। प्रह्लाद सिंह के बच्चों ने अपने चाचा-ताऊ को इसकी जानकारी दी। घर वालों ने सोमवार को सोशल मीडिया के माध्यम से प्रह्लाद सिंह के गुम होने और उसकी तलाश करने की मुहिम भी चलाई।

हमीरा गांव के जंगल में मिला शव
सदर थाना प्रभारी जेठा राम ने बताया कि सोमवार 28 नवंबर को हमीरा गांव के खेत के पास एक व्यक्ति के खेजड़ी के पेड़ से लटके होने की जानकारी मिली। पुलिस ने मौके पर जाकर उसकी पड़ताल की। मृतक की जेब से मिले सुसाइड नोट और कंपनी के आई कार्ड से उसकी पहचान हुई। जैसलमेर में मृतक प्रह्लाद सिंह के भाइयों ने लाश की शिनाख्त की। हमने शव का पोस्टमॉर्टम करवा कर मंगलवार को शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया।

सुसाइड नोट में बच्चों को लिखा आखरी राम-राम
मृतक प्रह्लाद सिंह के पास से मिले सुसाइड नोट में उसने अपने बच्चों से माफी मांगते हुए लिखा कि वह अपनी मर्जी से अपनी जान दे रहा है। इसके लिए उसके घरवालों को बिल्कुल भी तंग नहीं किया जाए। मृतक ने खुद की मर्जी से फांसी लगाने का लिखकर जय श्री राम लिखते हुए आखरी राम राम लिखा।