सवारियों से भरी बस रेत में फंसी:गाड़ी का धक्का लगाकर एक घंटे बाद निकाला

जैसलमेर5 महीने पहले
जैसलमेर। रेत में फंसी बस को धक्के लगाकर बाहर निकालने की कोशिश करते यात्री।

जैसलमेर के ग्रामीण इलाकों में सड़कों पर जमा रेत ने लोगों को काफी परेशान कर दिया है। जिले के म्याजलार से आगे करड़ा-पोछिना की तरफ जाने वाले मार्ग पर 2 महीने से लगातार रेत आ रही है। रेत में गाड़ियों के फंसने का सिलसिला भी लगातार जारी है। लेकिन प्रशासन की तरफ से सड़क से रेत हटाने का काम अभी तक नहीं किया गया है। सड़कों पर रेत में एक बस फंस गई। करड़ा-पोछिना जा रही बस रेत में फंस गई। यात्रियों से भरी बस फंसने से लोग काफी परेशान हुए। लोगों ने बस से उतर कर गाड़ी को धक्के लगाए। करीब 1 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद बस को आखिर रवाना किया गया।

करड़ा-पोछिना की तरफ जाने वाली सड़क पर जमा रेत में फंसी निजी बस
करड़ा-पोछिना की तरफ जाने वाली सड़क पर जमा रेत में फंसी निजी बस
सड़कों पर जमा रेत
सड़कों पर जमा रेत

2 महीने से नहीं हटी सड़क से रेत

ग्रामीण लालू सिंह सोढ़ा ने बताया कि म्याजलार से करड़ा-पोछिना जाने वाली सड़क पर पिछले 2 महीने से सड़कों पर रेत जमा है। कई बार ग्रामीणों ने अपने स्तर पर रेत हटवाई है लेकिन प्रशासन के द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। सड़कों पर जमा रेत से आवागमन बाधित हो रहा है। उन्होंने बताया कि करीब 100 मीटर के दायरे में सड़कों पर रेत आई हुई है जिससे बसें व अन्य गाड़ियां हमेशा फंसती रहती है। स्थानीय लोगों ने कई बार रेत अपने स्वयं के संसाधनों से हटवाई है। रेत 2 फीट तक आ जाने से छोटी गाड़ियां भी नहीं आ और जा सकती है।