उदयपुर घटना की सभी धर्मों ने की निंदा:कलेक्टर ने ली शांति समिति की बैठक, सबने कहा- अपराधियों को मिले सख्त सजा

जैसलमेर2 महीने पहले
जैसलमेर। शांति समिति की बैठक लेती जिला कलेक्टर डॉ प्रतिभा सिंह। - Dainik Bhaskar
जैसलमेर। शांति समिति की बैठक लेती जिला कलेक्टर डॉ प्रतिभा सिंह।

जिला कलेक्टर डॉ प्रतिभा सिंह ने उदयपुर की घटना को मद्देनजर जिला शांति समिति की बैठक का आयोजन किया। बैठक में कलेक्टर ने शांति समिति के सदस्यों, समाज के प्रबुद्धजनों व धर्म गुरुओं से आह्वान किया कि वे जिले में शांति एवं साम्प्रदायिक सौहार्दपूर्ण व भाईचारे का माहौल बना रहे, इसके लिए वे प्रशासन को पूरा सहयोग दें और जैसलमेर की भाईचारे व साम्प्रदायिक सौहार्द की जो मिसाल हमेशा से बनी हुई है उसको कायम रखे। उन्होंने कहा कि जिला पुलिस व प्रशासन हर तरह से मुस्तैद है और जिले में धारा 144 भी लागू की गई है जिसकी भी सख्ताई से पालना की जा रही है।

sशांति समिति की बैठक में मौजूद सभी धर्मों के लोग व अधिकारी
sशांति समिति की बैठक में मौजूद सभी धर्मों के लोग व अधिकारी

प्रेम व भाईचारा बनाए रखने की अपील

जिला कलेक्टर ने शांति समिति सदस्यों को जिले में लागू की गई धारा 144 की जानकारी देते हुए बताया कि वे समाज के हर व्यक्ति को इसकी पालना करने के लिए मोटिवेट करें। इसका उल्लंघन करने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। सदस्य समाज के मौजिज व्यक्ति हैं और वे लोगों को यह संदेश दें कि वे जैसलमेर में साम्प्रदायिक सौहार्द और भाईचारे को बनाए रखें और किसी प्रकार की अप्रिय घटना नहीं करें। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि वे किसी भी प्रकार की अफवाहों पर ध्यान नहीं दें। साथ ही इस घटना के विडियो या सूचनाएं सोशल मीडिया पर वायरल नहीं करें। यदि किसी भी जगह साम्प्रदायिक माहौल को खराब करने के लिए कोई व्यक्ति घटना करता है या इसकी सूचना मिलती है तो वे तत्काल ही जिला व पुलिस प्रशासन को सूचना दे ताकि समय रहते कार्रवाई कर सके।

सबने कहा- अपराधियों को मिले सख्त सजा

बैठक में शांति समिति सदस्य कमल ओझा, कंवराज सिंह, सुमार खां, सवाई सिंह गोगली, गाजी खां कंधारी के साथ ही अन्य सदस्यों ने कहा कि उदयपुर की घटना की जितनी निंदा की जाए उतनी कम है। उन्होंने कहा कि अपराधी का कोई धर्म और जात नहीं होती है। ऐसे व्यक्ति को कठोर सजा मिलनी चाहिए। उन्होंने रेलवे स्टेशन, नीरज बस स्टैण्ड, एयरफोर्स चौराहा, मदरसा रोड़, हनुमान चौराहा पर पुलिस गश्त बढ़ाने की भी आवश्यकता जताई। उन्होंने पुलिस प्रशासन को विश्वास दिलाया कि हमारे जिले में सदैव ही साम्प्रदायिक सौहार्द बना रहा है और हर समाज व धर्म में प्रेम व भाईचारा कायम है तथा हम इस परम्परा को बनाए रखेंगे एवं आवश्यकता पड़ने पर पूरा सहयोग करेंगे।