जैसलमेर में हिन्दू संगठनों ने निकाला मौन जुलूस:उदयपुर हत्याकांड से आक्रोश, प्रदेश सरकार को बर्खास्त करने की मांग

जैसलमेरएक महीने पहले
जैसलमेर। हिन्दू संगठनों के आह्वान पर उदयपुर घटना के विरोध में इकट्ठे हुए लोग।

जैसलमेर में हिन्दू संगठनों ने मौन जुलूस निकालकर उदयपुर में हुए कन्हैया लाल हत्याकांड का विरोध किया। हिन्दू संगठनों के आह्वान गुरुवार को बड़ी संख्या में लोगों ने मौन जुलूस में हिस्सा लिया। मौन जुलूस स्थानीय गड़ीसर चौराहे से निकालकर शहर के मुख्य मार्गों से होता हुआ हनुमान चौराहे पर गांधी दर्शन के आगे पहुंचा। जुलूस के दौरान भारी संख्या में पुलिस बल भी तैनात रहा। गांधी दर्शन के आगे सभी लोगों ने मिलकर कन्हैया लाल को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद सभी ने कलेक्टर के माध्यम से राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंप कर प्रदेश सरकार को बर्खास्त करने की मांग की।

शहर के मुख्य मार्गों से गुजरता मौन जुलूस
शहर के मुख्य मार्गों से गुजरता मौन जुलूस
गांधी दर्शन के आगे कन्हैया लाल को श्रद्धांजलि देते लोग
गांधी दर्शन के आगे कन्हैया लाल को श्रद्धांजलि देते लोग

अनुशासन से निकला मौन जुलूस, जैसलमेर रहा बंद

उदयपुर हत्याकांड के खिलाफ गुरुवार को जैसलमेर पूरी तरह से बंद रहा। सभी लोगों ने अपनी- अपनी दुकानें बंद रखकर जैसलमेर बंद का सपोर्ट किया। इस दौरान हिन्दू संगठनों के आह्वान पर शहर में निकाला गया मौन जुलूस अनुशासित तरीके से निकला। जुलूस के दौरान सभी लोग मौन रहे और शहर में शांति पूर्वक तरीके से जुलूस निकाला। इस दौरान विश्व हिन्दू परिषद के पवन वैष्णव ने कहा कि प्रदेश में जिस तरीके से जिहादी मानसिकता कि वजह से लोगों की हत्या की जा रही है ये बहुत निंदनीय है। प्रदेश सरकार इस मामले में पूरी तरह से विफल रही है। उन्होंने बताया कि हमने कलेक्टर को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंप कर प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार को बर्खास्त करने की मांग की है।