गो कथा:महाराज ने राम और सीता का प्रसंग सुनाया

जैसलमेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर के महावीर गोशाला में चल रही धेनू मानस गो कथा के छठे दिन कथावाचक संत गोपालमणि महाराज ने कहा कि गाय का दूध ही भगवान श्री कृष्ण के मुख से कुरुक्षेत्र के मैदान में गीता बन कर निकला है। संपूर्ण देवताओं की पूजा करनी है तो गाय की पूजा कर लो। भगवान श्रीकृष्ण के निवेदन से संपूर्ण बृजवासी ने गाय माता में ही 33 करोड़ देवताओं की पूजा की। महाराज ने राम और सीता का प्रसंग सुनाते हुए कहा कि पिय हिय की सिय जाननिहारी। मनि मुदरी मन मुदित उतारी। जो पति ह्रदय की बात को समझे वहीं पत्नी होती है। उन्होंने परशुराम के पिता जमदग्नि ऋषि व माता रेणुका के बारे में विस्तृत बताते हुए गो माता की सेवा करने की बात कही। कहा कि आज विज्ञान ने सिद्ध कर दिया कि मां के गर्भ में जो तापमान होता है, वो ही गाय माता के गोबर में होता है।

खबरें और भी हैं...