• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaisalmer
  • Teachers' Union Shekhawat Expressed Protest Over Various Demands, Organized Protest Meeting Of Rajasthan Teachers' Association Jaisalmer

आंदोलन की दी चेतावनी:विभिन्न मांगों को लेकर शिक्षक संघ शेखावत ने जताया विरोध, राजस्थान शिक्षक संघ जैसलमेर की विरोध सभा आयोजित

जैसलमेर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जैसलमेर. विरोध सभा के दौरान उपस्थित शिक्षक। - Dainik Bhaskar
जैसलमेर. विरोध सभा के दौरान उपस्थित शिक्षक।

राजस्थान शिक्षक संघ शेखावत द्वारा रविवार को अमर शहीद सागरमल गोपा राउमावि जैसलमेर में विरोध सभा आयोजित की गई। विरोध सभा की अध्यक्षता पीईईओ उंडा श्रेयांस कुमार जैन ने की। वहीं मुख्य वक्ता प्रदेशाध्यक्ष महावीर सिहाग, उपाध्यक्ष भंवरलाल काला, प्रदेश महामंत्री उपेंद्र शर्मा, बाड़मेर जिला मंत्री विनोद पूनियां उपस्थित रहे। अल्ला अमीन व विनोद गढ़वाल ने अतिथियों का माल्यार्पण कर स्वागत किया।

अमित अरोड़ा ने स्वागत भाषण प्रस्तुत किया। बाड़मेर जिला मंत्री विनोद पूनियां ने सरकार की नीतियों पर जमकर प्रहार करते हुए सार्वजनिक शिक्षा को बचाने के लिए संघर्ष को तेज कर करने की अपील की। विरोध सभा को संबोधित करते हुए प्रदेशाध्यक्ष महावीर सिहाग ने कहा कि शिक्षकों की ज्वलंत मांगों को लेकर संगठन लंबे समय से आंदोलन कर रहा है। लेकिन सरकार ने शिक्षकों की वाजिब मांगों का निराकरण नहीं किया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में राज्य सरकार ने बेशक पुरानी पैंशन बहाल कर दी है।

लेकिन जब तक केंद्र सरकार पीएफआरडीए कानून रद्द नहीं करती है तब तक पुरानी पेंशन पर खतरा मंडराता रहेगा। इसलिए जब तक केंद्र सरकार पीएफआरडीए कानून और नई शिक्षा नीति रद्द नहीं करती तथा राज्य में स्थानांतरण नीति लागू नहीं होती और शिक्षकों की वाजिब मांगों का निराकरण नहीं होता तब तक आंदोलन जारी रहेगा।

प्रदेश महामंत्री उपेंद्र शर्मा ने कहा कि केंद्र सरकार की नई शिक्षा नीति लागू होने से प्राथमिक कक्षाओं को आंगनवाड़ी कार्यकर्ता पढ़ाएगी। जिससे प्राथमिक कक्षाओं में पढ़ने वाले छात्रों का स्तर तो कमजोर होगा ही साथ ही शिक्षा विभाग में एल वन के शिक्षकों के लाखों पद समाप्त होंगे। प्रदेश उपाध्यक्ष भंवरलाल काला ने कहा राज्य सरकार भी केंद्र सरकार की तरह शिक्षा नीति राज्य में लागू कर रही है।

इसलिए आज हमारी लड़ाई सरकार से वेतन और भत्तों की नहीं है बल्कि आज लड़ाई शिक्षकों की सेवा सुरक्षा व आने वाली पीढी के रोजगार की है। इसलिए संगठन के प्रांतीय नेताओं की टीम प्रदेश के विभिन्न जिलों का दौरा कर शिक्षकों से व्यापक संपर्क कर राज्य सरकार व केंद्र सरकार के खिलाफ बड़े आंदोलन की तैयारी कर रही है। अमित अरोड़ा ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि सरकार शिक्षकों की वाजिब मांगों का निराकरण करें अन्यथा केंद्र व राज्य सरकार के खिलाफ बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

मंच संचालन संघ के प्रांतीय प्रतिनिधि रामनिवास ने किया। विरोध सभा में विनोद सारण, विनोद गढ़वाल, गुरप्रीत कौर, मनप्रीत कौर, प्रदीप, मुकेश, वेदप्रकाश, तालिब खान, अल्ला अमीन, मशहूर खान, साबिर अली, गोविंददान, मनोहर खान, सिजावल खान, मोहनदान, कृष्णदान, मनीष सिधड, मांगीलाल जाजड़ा, संदीपसिंह व चमनलाल सहित कई शिक्षक मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...