BSF जवानों ने दीवाली पर सरहद को किया रोशन:तारबंदी के पास दीपक जलाएं, बोले- परिवार से पहले देश हैं

जैसलमेर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सरहद पर बंदूक के साथ रोशनी करके दीवाली मनाती बीएसएफ़ की महिला जवान।

भारत-पाकिस्तान सरहद पर दीवाली के दिन भी BSF के जवानों ने अपनी ड्यूटी। सरहद पर जवानों पर तारबंदी के पास रोशनी की। इस दौरान महिला जवान भी तैनात रही। सभी ने मिलकर सरहद को रोशन कर दिया। घर-परिवार से दूर जवानों का कहना था कि, देश की रक्षा करना उनका पहला कर्तव्य है।

सरहद की सुरक्षा के साथ-साथ त्योहार का आनंद लेते बीएसएफ़ के जवान
सरहद की सुरक्षा के साथ-साथ त्योहार का आनंद लेते बीएसएफ़ के जवान

देश दुनिया में दीपोत्सव पर्व को लेकर उत्सव और उमंग का माहौल है। वहीं सरहद पर सीमा प्रहरी दिन-रात सुरक्षा में लगे हुए है। ताकि हम चैन से दीपोत्सव का आनंद उठा सकें। भारत-पाक सीमा से सटे सरहदी जिले जैसलमेर की सरहद पर बेटियों ने भी अपनी दीपावली सरहद की सुरक्षा करते हुए मनाई। कंधे पर बंदूक रखे दुश्मन पर चौकन्नी नजर के साथ सरहद की रखवाली करते हुए बेटियों ने तारबंदी के पास दीपक भी जलाए। जैसलमेर में भारत-पाकिस्तान की सीमा पर बीएसएफ के जवान धूमधाम से दिवाली मना रहे है। जवानों ने बॉर्डर में दीए जलाए और एक दूसरे को मिठाई बांट कर दिवाली की शुभकामनाएं दी।

भारत-पाकिस्तान सरहद पर तारबंदी पर रोशनी करती महिला जवान
भारत-पाकिस्तान सरहद पर तारबंदी पर रोशनी करती महिला जवान

सरहद पर महिला जवानों ने जलाए दीपक
महिला जवानों ने कहा कि हम बॉर्डर पर मुस्तैदी के डटे रहते हैं ताकि देश की जनता आराम से सुख शांति से दिवाली मनाए। उन्होंने कहा कि बॉर्डर ही हमारा घर है और हम सारे जवान मिल कर यहीं दिवाली मनाते हैं। दीवाली मनाने के साथ हम भी अपनी ड्यूटी भी मुस्तैदी से करते हैं। ताकि देश के सभी लोग सुरक्षित रहें। सीमा सुरक्षा बल द्वारा सरहद की चौकसी पर तैनात बेटियों की पहली दीवाली होने के कारण सरहद पर अनूठा नजारा देखने को मिला।

सीमा चौकियों को दीपकों से किया रोशन
सरहद पर सीमा सुरक्षा बल की महिला जवानों की विंग ने सीमा चौकियों पर दीप जलाकर जमकर आतिशबाजी भी की। अपने परिवार से सैकड़ों-हजारों किमी की दूरी पर बैठे ये सीमा प्रहरी अपने साथी जवानों के साथ दीवाली की खुशियां बांट रहे हैं। महा पर्व के मौके पर अपनों से दूर होने की कसक तो है लेकिन राष्ट्र सुरक्षा का जज्बा तथा ड्यूटी फ़र्स्ट का आदर्श उनके रोम-रोम में रचा-बसा है। दिवाली के मौके पर जवानों ने सरहद पर दीप मालाएं सजाई।

सरहद पर रंगोली बनाकर दीपावली का त्यौहार मनाया गया।
सरहद पर रंगोली बनाकर दीपावली का त्यौहार मनाया गया।