भीनमाल में हजारों उपभोक्ता रहेंगे वंचित:1078 मैट्रिक टन कम हुआ आवंटन, 70,037 उपभोक्ता होंगे प्रभावित

भीनमाल6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना के बाद खाद्य सुरक्षा योजना के तहत राज्य सरकार व केंद्र सरकार द्वारा गेहूं उपलब्ध करवाया जाता था लेकिन अब केंद्र सरकार द्वारा यह योजना सितंबर तक संचालित होने के बाद रोक दी गई है। ऐसे में आगामी महीनों में सिर्फ आधे गेहूं ही मिल पाएंगे। इधर सितंबर माह में आवंटित किए गए कोटे में भी कटौती की गई है जिससे कई परिवार वंचित रहेंगे।

1078 मैट्रिक टन आवंटन कम
केंद्र सरकार ने कोरोना काल से राशन कार्ड धारकों को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत नि:शुल्क खाद्यान उपलब्ध कराना शरू किया था जिसके लिए इस योजना के तहत प्रत्येक उपभोक्ता को 5 किलो गेहू हर महीने निशुल्क वितरण किया जाता है लेकिन अब इस योजना की अवधि में सितंबर तक ही था। सितम्बर के गेहू का वितरण माह अक्टूबर में किया जाएगा। लेकिन भारत सरकार ने योजना के बन्द होने पर पूरे प्रदेश में माह सितम्बर के प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के गेहू का आवंटन 41015.893 मेट्रिक टन गेहू प्रदेश को कम आवंटित किया गया जिसमें जालोर जिले में 1078.254 मेट्रिक टन गेहू का आवंटन कम किया गया। जिस कारण माह अक्टूबर में वितरित होने वाले निशुल्क गेहूं से कई परिवार वंचित रहेंगे।

आपको बता दें कि भीनमाल उपखंड में कुल राशन कार्ड 14288 हैं और उपभोक्ता 70037 हैं। इधर नगर पालिका भीनमाल कुल राशन कार्ड 6097 हैं और उपभोक्ता 26,523 हैं।

इनका ये कहना
राशन डीलर संघ के प्रदेश प्रवक्ता वरदाराम देवासी ने बताया कि जिन राशन की दुकानों में गेहू का स्टोक था केवल उन्हीं दुकानों के आवंटन में कटौती करते हुए माह सितम्बर का आंवटन करना चाहिए था लेकिन राज्य सरकार ने सभी राशन की दुकानों का आंवटन 20% इस माह कम कर दिया जिससे कई उपभोक्ता भी वंचित रहेंगे वह राशन डीलरों एव उपभोक्ताओं को काफी परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

खबरें और भी हैं...