भीनमाल में बढ़ेगी हरियाली:वन विभाग ने तैयार किए 55 हजार पौधे, 1 जुलाई से शुरू होगा वितरण

भीनमाल7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पर्यावरण को बढ़ावा देने के लिए वन विभाग ने पौधारोपण के लिए इन दिनों अभियान चला रखा है। हर वर्ष की तुलना में इस बार सबसे अधिक 55 हजार पौधारोपण करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसी के तहत स्थानीय वन विभाग की हातिमताई व जुंजाणी नर्सरी से पहली बार सबसे ज्यादा 55 हजार पौधे वितरण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है जबकि यह आंकड़ा हर वर्ष 40 से 45 हजार के आसपास ही रहता था।

दोनों नर्सरी में तैयार है पौधे

वनपाल छत्रपाल सिंह ने बताया कि स्थानीय रामसीन रोड स्थित हातिमताई नर्सरी में वन विभाग की ओर से 32 हजार विभिन्न प्रजाति के पौधे तैयार किए गए हैं। इसी तरह भीनमाल-बागोड़ा रोड स्थित जुंजाणी नर्सरी में भी 23 हजार विभिन्न प्रजाति के पौधे तैयार किए जा चुके हैं। वनपाल महिपालदान चारण ने बताया कि क्षेत्र में पेड़-पौधों की कई प्रजातिया लुप्त होने के कगार पर है। इसी को ध्यान में रखते हुए वन विभाग ने इस बार कई किस्मों के पौधों को बढ़ाने पर की तरफ ध्यान दिया है। इसके चलते नीम, चरम, करंज, गुलमोहर, अनार, गुंदा, सुरेल, गुलर, खेजड़ी, वड़ पीपल के पौधों का ज्यादा वितरण किया जाएगा। वहीं विद्यालयों व मनरेगा में सबसे ज्यादा नीम के पौधों का रोपण किया जा रहा है। इसी के साथ औषधीय पौधे डेढ़ लाख के आसपास तैयार किए गए।

1 जुलाई से शुरु होगा वितरण

क्षेत्रीय वन अधिकारी भंवरसिंह ने बताया कि हर वर्ष की तुलना में इस बार सबसे ज्यादा पौधों का वितरण किया जाना है। कार्यवन विद्या, राजकीय निधि व मनरेगा के तहत कुल 55 हजार पौधे विभिन्न प्रजातियों के तैयार किए गए है। ज्यादा पौधों का रोपण होने से हरियाली को बढ़ावा मिलेगा।

खबरें और भी हैं...