ईआर प्रोजेक्ट:भुगतान की मांग, कंपनी के ऑफिस के आगे ठेकेदारों का धरना

जालोर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कंपनी कर्यालय के आगे धरने पर बैठे सब ठेकेदार। - Dainik Bhaskar
कंपनी कर्यालय के आगे धरने पर बैठे सब ठेकेदार।

जल जीवन मिशन योजना के तहत ईआर प्रोजेक्ट का कार्य कर रही जीवीपीआर कंपनी के खिलाफ सब ठेकेदारों का प्रदर्शन दूसरे दिन भी जारी रहा। कलेक्टर से मिलने के बाद दूसरे दिन ठेकेदारों ने भीनमाल स्थित कंपनी ऑफिस के आगे धरना शुरू कर दिया है। ठेकेदारों की मांग है कि करीब 40 प्रतिशत कार्य करने के बाद भी कंपनी ने एक रुपए का भी भुगतान नहीं किया है, जबकि कंपनी सरकार से भुगतान उठा चुकी है।

ऐसे में गांवों में कार्य कर रहे छोटे ठेकेदारों को आगे कार्य करवाने में दिक्कत आ रही है। इसी मांग को लेकर ठेकेदार पिछले 16 दिनों से कार्य बंद करते हुए हुए कार्य का भुगतान करवाने की मांग कर रहे हैं। मंगलवार को ठेकेदारों ने कलेक्टर निशांत जैन से भी मुलाकात करते हुए अपनी पीड़ा बताई, लेकिन उसके बाद भी बुधवार को किसी भी बात पर सुलह नहीं हो पाया।

306 गांवों में 1 लाख 3 हजार घरों को नल से जोड़ना है
इस प्रोजेक्ट का कार्य पहले से धीमी गति में चल रहा है। मार्च 2024 तक सरकार का मिशन है कि हर घर नल से जोडऩा है। अब तक आधा कार्य भी नहीं हुआ है। चार माह तक कार्य चलने के बाद पिछले 16 दिनों से पूरा काम ठप पड़ा है। ऐसे में 2024 तक ईआर प्रोजेक्ट के तहत 306 गांवों के 1 लाख 3 हजार 61 घरों को नलों से जोडऩा मुश्किल लग रहा है।

खबरें और भी हैं...