बंद मकान की छत पर मिला 6 महीने का भ्रूण:हाथ-पैरों को कुत्तों ने नोंचा

जालोर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
चार साल से बंद एक मकान की छत पर भ्रूण मिला है। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। - Dainik Bhaskar
चार साल से बंद एक मकान की छत पर भ्रूण मिला है। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

आहोर के अगवरी गांव में पिछले 4 साल से बंद एक मकान की छत पर 6 महीने का भ्रूण मिला है। पड़ोसियों की सूचना पर आहोर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और भ्रूण को अपने कब्जे में लिया। आहोर थाना थाना प्रभारी निरंजन प्रताप सिंह ने बताया कि भ्रूण को कब्जे में लेकर जांच की जा रही है।

तेज धूप में छत पर मिला भ्रूण
रेबारियो का वास इलाके में रहने वाले लोगों ने बताया कि तेज धूप में भ्रूण मकान की छत पर पड़ा हुआ था। जैसे ही उन्होंने चिलचिलाती धूप में भ्रूण को छत पर पड़ा देखा तो वे अपने आंसू नहीं रोक पाए। और इसकी सूचना पुलिस को दी।

हाथ-पैरों को कुत्तों ने नोंचा
भ्रूण के हाथ-पैरों को कुत्तों ने नोंच रखा था। छत पर अकेले में पड़े भ्रूण तक पहुंचकर कुत्तों ने जगह-जगह काट रखा था। ऐसे में भ्रूण के कई अंग खून से सने थे और क्षत-विक्षत थे।

भ्रूण का कराया पोस्टमार्टम
लोगों की सूचना के बाद मौके पर पहुंची आहोर पुलिस ने भ्रूण को अपने कब्जे में लेकर सरकारी अस्पताल की मोर्चरी में पोस्टमार्टम कराया। डॉ. पूरणमल मुणोत ने बताया कि पोस्टमार्टम के बाद भ्रूण को पंचायत प्रशासन को सौंप दिया गया है।

भ्रूण को पोस्टमार्टम के लिए लेकर जाती पुलिस।
भ्रूण को पोस्टमार्टम के लिए लेकर जाती पुलिस।

पुलिस ने केस दर्ज किया, जांच शुरु
आहोर थाना थाना प्रभारी निरंजन प्रताप सिंह ने बताया कि इस मामले में आईपीसी की धारा 318 में अज्ञात महिला के खिलाफ केस दर्ज करते हुए पूरे मामले की जांच शुरु कर दी है। पुलिस ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है। पूरे मामले की गंभीरता के साथ जांच की जा रही है।

अवैध संतान होने का अंदेशा
पुलिस ने बताया कि जिस तरीके से किसी महिला ने भ्रूण को तेज धूप में छत पर फेंका हुआ है। उससे लगता है कि किसी ने अपनी अवैध संतान को छिपाने के लिए यह सब किया है।

प्राइवेट अस्पतालों का रिकॉर्ड जाचेंगे
पुलिस ने बताया कि यह मामला सामने आने के बाद इलाके में संचालित प्राइवेट अस्पतालों और नर्सिंग होम का रिकॉर्ड जांचा जाएगा। ताकि पूरे मामले की गहनता से जांच हो सके।

4 साल से बंद मकान जहां छत पर भ्रूण मिला।
4 साल से बंद मकान जहां छत पर भ्रूण मिला।

4 साल से बंद पड़ा था मकान
पुलिस ने बताया कि जिस मकान की छत पर भ्रूण मिला है वह मकान पिछले 4 साल से बंद पड़ा हुआ है। इस मकान में मेदलाराम भगाराम देवासी का परिवार रहता था जो अभी हरियाणा में रह रहा है।