किसानों ने आमरण अनशन किया खत्म:महंत रणछोड़दास ने किसानों को पिलाया जूस, मांग पूरी होने तक धरना रहेगा जारी

जालोर3 महीने पहले
जालोर में जवाई बांध का पानी जवाई नदी में छोड़ने और बिजली की समस्या को लेकर पिछले 6 दिन से किसानों का धरना जारी है।

जालोर में जवाई बांध का पानी जवाई नदी में छोड़ने और बिजली की समस्या को लेकर पिछले 6 दिन से किसानों का धरना जारी है। वहीं आमरण अनशन पर बैठे किसानों ने अपना आमरण अनशन खत्म कर दिया है। चौथे दिन लेटा मठ के महंत रणछोड़दास ने मंगलवार शाम 21 किसानों को जूस पिलाकर अनशन तुड़वाया।

जन अभाव अभियोग निराकरण समिति अध्यक्ष पुखराज पाराशर ने लेटा महंत रणछोड़दास को किसानों से बात करने के लिए भेजा। पुखराज पाराशर के आश्वासन के बाद किसानों ने 4 दिन बाद आमरण अनशन तोड़ा। लेटा महंत ने किसानों को जूस पिलाकर अनशन तुड़वाया। बुधवार को किसानों की एक कमेटी मुख्यमंत्री या सरकार के प्रतिनिधि मंडल से बात करेगी। वहीं इससे पहले जालोर-सिरोही सांसद देवजी एम पटेल ने धरने में आकर किसानों को समर्थन दिया। उन्होंने कहा कि मैं किसान का बेटा हूं तो किसानों का ही साथ दूंगा।

शनिवार सुबह से करीब 21 किसान आमरण अनशन पर बैठे थे। जिसमे 5 बुजुर्ग भी शामिल है। पानी छोड़ने के मांग को लेकर भूराराम तीखी, ओखाराम चौधरी, परमवीरसिंह भाटी, विक्रमसिंह बादनवाड़ी, दरगाराम आहोर, जोगसिंह, चक्रवर्ती सिंह, महावीरसिंह, हेमताराम, सताराम, उकाराम, जुठाराम, छोगाराम माली, जगाराम, छोगाराम गोदन, कानाराम, विरमाराम, छोगाराम तिखी, भवानीसिंह जोईताराम, हितेश ओझा आमरण अनशन पर बैठे हैं। वहीं किसानों का धरना आगे भी जारी रहेगा।