दिन दहाड़े टक्कर मारते हुए बोलेरो पर की फायरिंग:आग लगी तो कैंपर छोड़ भागे बदमाश, टोल से मांग रहे 3 लाख रुपए मासिक बंधी

सांचौरएक महीने पहले
बोलेरो को टक्कर मारने के बाद कैंपर में लगी।

सांचौर से 2 किलोमीटर दूर बदमाशों ने माखुपुरा स्थित सांचौर-गुजरात नेशनल हाइवे 68 पर बोलेरो गाड़ी पर फायरिंग कर दी। बदमाश 7-8 बोलेरो कैंपर में सवार होकर आए थे। बोलेरो गाड़ी को टक्कर मारते हुए फायरिंग कर दी। इस दौरान बदमाशों की एक कैंपर गाड़ी में आग लग गई। जिसे बदमाश छोड़कर भाग छूटे। बोलेरे ड्राइवर कांच लगने से घायल हो गया। वहीं दो गोलियों के खोल मौके से बरामद किए गए है।

बोलेरो गाड़ी में मिले गोली के दो खोल।
बोलेरो गाड़ी में मिले गोली के दो खोल।

बोलेरे को टक्कर मारते हुए की फायरिंग

बोलेरो गाड़ी सांचौर की तरफ से आ रही थी। इस दौरान माखुपुरा के पास बदमाशों की गैंग के लोग सात आठ गाड़ियों में भरकर आए। बोलेरो को दूसरी गाड़ी से टक्कर मारते हुए फायरिंग शुरू कर दी। सांचौर डीवाईएसपी रूप सिंह इंदा व सांचौर थानाधिकारी प्रवीण आचार्य मौके पर पहुंचे। दमकल की मदद से आग पर काबू पाया। वाहनों से सड़क से हटवाकर यातायात सुचारू करवाया। वहीं मामले की जांच शुरू कर दी है। अरोपी मुकेश बिश्नोई, पुनासा भीनमाल का रहने वाला है। क्षेत्र में अपने नाम की दहशत कायम करना चाहता है। इसके द्वारा पूर्व में टोल प्लाजा पर फायरिंग की वारदात को अंजाम दिया था।

वहीं मुकेश बिश्नोई, तगसा राजपुरोहित, गोपा सरवाना, कमलेश गोदारा सांचौर, भजन लाल सुरता की ढाणी सांकड़ खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। वहीं एक आरोपी को पकड़ लिया गया है।

मौके पर पहुंची पुलिस और जमा लोग।
मौके पर पहुंची पुलिस और जमा लोग।

सड़क के बीचों बीच फायरिंग से दहशत

एक बार फिर दिनदहाड़े सड़क के बीचों बीच फायरिंग की घटना के बाद अफरा तफरी मच गई। मामले की जानकारी मिलने के बाद पुलिस का जाप्ता के साथ मौके पर पहुंची। दोनों वाहनों को क्रेन की मदद से सड़क से हटाकर रास्ता खुलवाया।

वहीं पुलिस ने बताया कि बोलेरो में अर्जुन देवासी व विक्रम देवासी सवार थे। यह लोग शराब के गोदाम से दुकान पर आ रहे थे। इसी दौरान बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया। ये दोनों लक्ष्मण देवासी की शराब की दुकान पर काम करते है। लक्ष्मण देवासी की टोल में पार्टनरशिप है।

आग लगने से जली बोलेरे कैंपर।
आग लगने से जली बोलेरे कैंपर।

यह है पूरा मामला
दोनों पक्षों में टोल संचालन को लेकर विवाद चल रहा है। पलादर गांव में नेशनल हाइवे पर 21 अप्रैल को टोल का संचालन शुरू किया गया। 26 अप्रैल को पहली बार मुकेश टोल प्लाजा पर पहुंचा और तीन लाख रुपए की मंथली मांगी। अपने लोगों को नौकरी पर लगाने की बात कही।

28 अप्रैल को वापस टोल पहुंचा और बेरियर हटाकर सभी वाहनों को फ्री निकाला और गाड़ियां दौड़ा कर दहशत फैलाई। 30 अप्रैल को वापस दर्जन भर गाड़ियां लेकर पहुंचे और फायरिंग करते हुए दहशत फैलाई। इसकी टोल प्लाजा के मैनेजर वीरू सिंह ने एफआईआर भी दर्ज करवा रखी है।