लंपी स्किन डिजीज का प्रकोप:मंत्रियों ने किया गौशालाओं का निरीक्षण, अधिकारियों को दिए दिशा निर्देश

सांचौर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गोवंश में फैल रही लंपी स्किन बीमारी के चलते शुक्रवार को विश्व की सबसे बड़ी आनंदवन गोदाम पथमेड़ा की मुख्य गौशाला और इससे जुड़ी अन्य गौशालाओं का राज्य के खान एवं गोपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया, जनजाति क्षेत्रीय विकास राज्य मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री अर्जुन सिंह बामनिया, श्रम राज्य मंत्री सुखराम विश्नोई साथ ही राज्य गौसेवा आयोग अध्यक्ष एवं बाड़मेर विधायक मेवाराम जैन ने निरीक्षण किया।

अधिकारियों की ली बैठक
इसके बाद राज्य जिला स्तरीय अधिकारियों की मौजूदगी में जिले में फैल रही संक्रामक बीमारी लंपी स्किन डिजीज की रोकथाम को लेकर पशुपालन विभाग और जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में गोपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया ने कहा कि लंपी स्किन डिजीज से गौवंश को बचाना राज्य सरकार की प्राथमिकता है। इसके लिए हर स्तर पर उपचार के पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित किए जाए।

संक्रमित पशुओं का हो रहा उपचार
भाया ने गौशालाओं को मच्छर, मक्खी से मुक्त करने के लिए पशुओं पर साईपरमैथ्रिन दवाई का छिड़काव किए जाने के साथ ही जिले में दवाइयों की उपलब्धता सुनिश्चित करने, बीमार पशुओं की उचित देखभाल करने, आम जन पशुपालकों को जागरूक करने के साथ आवश्यकतानुसार चिकित्सा दलों की नियुक्ति के निर्देश दिए। एडीएम राजेन्द्र प्रसाद अग्रवाल ने बताया कि जिले की सभी गौशालाओं में ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों एवं गठित पशुपालन विभाग की टीमों द्वारा नियमित सर्वे कर संक्रमित पशुओं का उपचार किया जा रहा है ।

व्यवस्थाओं का लिया जायजा
पथमेड़ा गौशाला से जुड़ी पालड़ी गौशाला में सबसे ज्यादा गोवंश संक्रमित होने के साथ ज्यादा मौत होने के चलते प्रमोद जैन भाया पालड़ी ने ठाकुर गौसेवाश्रम पहुंच व्यवस्थाएं देखीं। उन्होंने पूरे क्षेत्र में पशुपालकों को लंपी स्किन बीमारी के प्रति जागरूक करने, सर्वे स्क्रीनिंग द्वारा संक्रमित पशुओं की पहचान करने और बीमार पशुओं को स्वस्थ पशुओं से अलग रख उपचार करने के साथ ही पशुओं को पौष्टिक आहार देने, नियमित फॉगिंग करने, चारे में नीम की पत्तियां को शामिल करने की बात कही।

निरीक्षण के लिए पहुंचे मंत्रियों ने अधिकारियों की बैठक भी ली
निरीक्षण के लिए पहुंचे मंत्रियों ने अधिकारियों की बैठक भी ली
खबरें और भी हैं...