25 की उम्र में सन्यास:सपन बोहरा ने धारण किया वैराग्य, राजगढ़ में आयोजन के दौरान ली दीक्षा

भवानी मंडी19 दिन पहले

भवानीमंडी के सपन कुमार बोहरा ने 25 वर्ष की उम्र में सांसारिक मोह माया को छोड़ वैराग्य जीवन धारण किया। जहा सपन ने राजगढ़ में गुरुजनों के सानिध्य में वैराग्य जीवन जीने और जैन समाज के प्रचार प्रयास के लिए अपने पूरे जीवन को समर्पित किया। जहा उन्होंने यह भागवती दीक्षा राजगढ़ धार मध्यप्रदेश में आचार्य नवरत्न सागर मासाके शिष्य आचार्य विश्वरत्न सागर महाराज साब आचार्य मृदु रत्न सागर म.सा.की निश्रा में सम्पन्न हुई।

सपन बोहरा का दीक्षा के पश्चात शौर्य रत्न सागर म.सा.नामकरण किया गया। इस अवसर पर अनेक साधु साध्वी भगवंत और भवानी मंडी नगरपालिका अध्यक्ष कैलाश बोहरा, श्रीसंघ अध्यक्ष प्रमोद नागोरी, हर्षित ड़ड़डा, लकी मारवाड़ी, मिलन बापना आदि समाजजन के अलावा हजारों की संख्या में लोग मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...