मां को मिली कस्टडी, पापा से लिपटकर रोया बेटा; VIDEO:बोला- मुझे पापा से अलग मत करो...और बेहोश होकर गिर पड़ा सैनिक पिता

चिड़ावा (झुंझुनूं)3 महीने पहले

राजस्थान के झुंझुनूं जिले के चिड़ावा SDM कोर्ट में दहेज प्रताड़ना के एक केस में बेटे की कस्टडी मां को देने का फैसला सुनते ही पिता फफक-फफककर रोने लगा। 6 साल का बेटा भी संभाले नहीं संभल रहा था। दोनों एक-दूसरे के गले लगकर खूब रो रहे थे। अलग होने को तैयार नहीं थे।

पुलिस ने कोर्ट के आदेश का हवाला देते हुए दोनों को अलग किया। इसके बाद पिता वहीं बेहोश हो गया। बमुश्किल उसे होश में लाया गया। कोर्ट में यह सीन जिसने भी देखा, उसकी आंखें भर आईं। बेटा पिता के गले से लगकर बस यही रट लगाए हुए था- मुझे पापा से अलग मत करो, मुझे पापा के साथ ही रहना है।

क्या है मामला
खापड़वास, झज्जर (हरियाणा) निवासी प्रीत पचरंगिया (39) की शादी बेरला सूरजगढ़ (झुंझुनूं) निवासी सुमन (28) से 25 जनवरी 2015 में हुई थी। 20 जुलाई 2016 को बेटा हुआ, जिसका नाम जतिन है। प्रीत फौज में था। सुमन हाउसवाइफ हैं। जतिन जब छोटा था तो अपने दादा सुल्तान सिंह के पास रहा। उस दौरान उसकी मां सुमन भी गांव पर ही रहती थी। 2018 में प्रीत और सुमन के बीच मनमुटाव होने लगा।

झुंझुनूं जिले के चिड़ावा SDM कोर्ट में लिपट कर रोते पिता-पुत्र। कोर्ट के आदेश के बाद पिता एसडीएम दफ्तर में बेहोश होकर गिर गया।
झुंझुनूं जिले के चिड़ावा SDM कोर्ट में लिपट कर रोते पिता-पुत्र। कोर्ट के आदेश के बाद पिता एसडीएम दफ्तर में बेहोश होकर गिर गया।

पंचायत के बाद फिर साथ रहने लगे
प्रीत और सुमन के बीच बढ़ते मनमुटाव को देखते हुए पंचायत बुलाई गई। दोनों के बीच साथ रहने की सहमति बनी। 2019 में दोनों को बेटी हुई, जिसका नाम जिया है। इसके बाद फिर से दोनों के बीच दूरियां बढ़ने लगीं। हालात ये बन गए कि फरवरी 2022 में सुमन ने अपने ससुराल वालों पर सूरजगढ़ थाने में दहेज प्रताड़ना का केस दर्ज करा दिया।

इसके बाद बेटी जिया को लेकर सुमन अपने पीहर आ गई। बेटा जतिन पिता के पास रह रहा था। दहेज का मामला SDM कोर्ट में पहुंचा तो सुमन ने बेटे जतिन की कस्टडी के लिए याचिका दायर की। इसी को लेकर सोमवार को SDM कोर्ट चिड़ावा ने फैसला सुमन के पक्ष में सुनाया है।

बेटे जतिन के साथ पिता प्रीत। 6 साल के मासूम का पिता से गहरा लगाव है। कोर्ट के फैसले के बाद पिता पुत्र को अलग कर दिया गया।
बेटे जतिन के साथ पिता प्रीत। 6 साल के मासूम का पिता से गहरा लगाव है। कोर्ट के फैसले के बाद पिता पुत्र को अलग कर दिया गया।

बेटे के लिए लिया VRS
प्रीत की पोस्टिंग लद्दाख की गलवान घाटी में बतौर गार्ड सेना की बटालियन 18 में थी। बेटे की देखभाल के लिए प्रीत ने अप्रैल 2022 में VRS ले लिया था। जतिन शुरू से ही अपने दादा सुल्तान सिंह के पास झज्जर (हरियाणा) में रहता था। फरवरी से पिता भी साथ ही रह रहे थे। ऐसे में जतिन पिता और दादा के ज्यादा करीब रहा।

SDM कोर्ट चिड़ावा में सोमवार को जतिन पिता के साथ रहने की गुहार लगा रहा था। फिर भी उसे मां की कस्टडी में दे दिया गया। इसके बाद एसडीएम ऑफिस के बाहर ही प्रीत बेसुध होकर जमीन पर गिर गया। करीब आधे घंटे तक पिता बदहवास हालत में जमीन पर पड़ा रहा। परिजनों और वकीलों ने उसे संभाला।

प्रीत और सुमन के अलगाव का असर बच्चों पर पड़ा। बेटी जिया पहले से मां सुमन के साथ थी, अब बेटे जतिन की कस्टडी भी सुमन को दे दी गई है।
प्रीत और सुमन के अलगाव का असर बच्चों पर पड़ा। बेटी जिया पहले से मां सुमन के साथ थी, अब बेटे जतिन की कस्टडी भी सुमन को दे दी गई है।

रिव्यू दाखिल करेंगे
इस मामले में प्रीत के वकील राजेश ने बताया कि रिव्यू दाखिल किया जाएगा। SDM से अपील की थी, लेकिन उन्होंने कहा कि जो फैसला कर दिया, उसे नहीं बदल सकते। आगे कार्रवाई कर लीजिए। वकील ने यह भी कहा कि कोर्ट में बच्चे की मर्जी के खिलाफ उसे पिता से अलग कर दिया गया।

रिपोर्ट: चंद्रमौली पचरंगिया