बीडीके अस्पताल में पर्दे से ढंकी ब्लड कंपोनेंट मशीन:चिरंजीवी में 30 अस्पतालों ने अगस्त में 33261 मरीजों का इलाज कर कमाए 8.49 करोड़ रुपए

झुंझुनूं14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

राज्य सरकार की मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना जिले के सरकारी अस्पतालों की बंपर कमाई का साधन बन रही है। अगस्त में जिले के 30 सरकारी अस्पतालों ने करोड़ों रुपए की कमाई कर रिकाॅर्ड बनाया है। इस महीने में जिले के दो अस्पतालों ने ताे पांच करोड़ से ज्यादा की आय हासिल की है।

अगस्त महीने में योजना में शामिल जिले के अस्पतालों ने 8 करोड़ 46 लाख 56 हजार रुपए कमा लिए। इसके लिए इन अस्पतालों ने 33261 मरीजों का इलाज किया है। योजना को लेकर जुटाए गए आंकड़ों के अनुसार कमाई के मामले में बीडीके अस्पताल जिले में पहले नंबर पर रहा है। इस अस्पताल ने 3 करोड़ 62 लाख 96 हजार 100 रुपए कमाए हैं। इसके बाद नवलगढ़ के जिला अस्पताल को 1 करोड़ 78 लाख 61 हजार 100 की आय हुई है।

योजना में जिले के 12 अस्पतालों की कमाई 10 लाख रुपए से ज्यादा रही है। जिले में 13 अस्पतालों ने 10 लाख से कम लेकिन 1 लाख से ज्यादा की कमाई की है। जिले के केवल तीन सरकारी अस्पताल की कमाई एक लाख रुपए से कम रही है। दूसरी ओर सर्वाधिक मरीजों काे इलाज देने के मामले में नवलगढ़ का जिला अस्पताल बीडीके से भी आगे निकल गया। बीडीके अस्पताल में 8499 मरीजों का चिरंजीवी योजना में इलाज किया गया। उसके मुकाबले नवलगढ़ के जिला अस्पताल ने 9245 मरीजों को उपचार दिया है।

13 अस्पतालों की आय एक लाख से ज्यादा रही : जिले में योजना में शामिल 13 अस्पतालों की आय 1 लाख रुपए से ज्यादा रही है। इनमें चिराना ने 9.14 लाख, टमकोर ने 8.23 लाख, बड़ाऊ ने 6.64 लाख, पिलानी ने 5.40 लाख, नूआं ने 5.18 लाख, इंडाली ने 4.93 लाख, बुहाना ने 4.64 लाख, मंडावा ने 4.60 लाख, बिसाऊ ने 2.47 लाख, महनसर ने 1.69 लाख, राणासर ने 1.53 लाख, बड़ागांव ने 1.83 लाख और जाखल ने 1.05 लाख रुपए चिरंजीवी याेजना में मरीजों का इलाज कर कमाए हैं।

खबरें और भी हैं...