सरपंच बोले- कांग्रेस सरकार परेशान कर रही है:अनावश्यक जांच का बहिष्कार किया, कलेक्टर से मिल आंदोलन की चेतावनी

झुंझुनूं3 महीने पहले
लंबित मांगों को लेकर सरपंचों का प्रदर्शन

लंबित मांगों को लेकर सरपंच संघ में आक्रोश है। गुरुवार को झुंझुनू के सरपंचों की ओर से लंबित मांगों को लेकर कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया गया। इसके बाद जिला कलेक्टर से मिलकर मुख्यमंत्री के नाम पत्र सौंपा।

सरपंच संघ के जिलाध्यक्ष ने कहा कि जब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आई है तब से सरपंचों को परेशान किया जा रहा है। पंचायत में अनावश्यक जांच के नाम पर परेशान किया जा रहा है। सरपंचों को अपनी मांगों को लेकर बार बार आंदोलन करना पड़ रहा है। इसके बावजूद राज्य सरकार की ओर से मांगों की ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि दो महीने लंबी लड़ाई के बाद राज्य सरकार की ओर से समझौता किया गया था। लेकिन कई महीने बीत जाने के बाद भी राज्य सरकार समझौते को लागू नहीं कर रही है। इससे सरपंचों में आक्रोश है। उन्होंने फिर से आंदोलन की चेतावनी दी है।

जिलाध्यक्ष ने कहा कि पंचायती राज मंत्री की ओर से औचक निरीक्षण के नाम पर झूठी अनावश्यक जांच करवाकर अधिकारियों, कर्मचारियों व सरपंचों को परेशान किया जा रहा है। सरपंच संघ झुंझुनूं इस जांच कमेटी व मंत्री के दौरे का बहिष्कार करता है। उन्होंने समझौता नहीं लागू करने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। इस दौरान कई गांवों के सरपंच मौजूद थे।