जेल में ही बना ली थी फरार होने की प्लानिंग:संतरी के फोन से कॉल कर बता दिया था बाइक लेकर कहां  आना है

झुंझुनूंएक महीने पहले
आरोपी ने दिन में ही भागने की प्लानिंग बना ली थी। दोस्तोंं को जेल से फोन कर बता दिया था कि उन्हें गाड़ी लेकर कहां आना है। - Dainik Bhaskar
आरोपी ने दिन में ही भागने की प्लानिंग बना ली थी। दोस्तोंं को जेल से फोन कर बता दिया था कि उन्हें गाड़ी लेकर कहां आना है।

झुंझुनूं के बुहाना जेल से 16 दिन पहले फरार हुए आरोपी वीरेंद्र उर्फ बिंदर को पुलिस ने दो दिन पहले हरियाणा से गिरफ्तार कर लिया था। अभी वह रिमांड पर चल रहा है। लेकिन, पूछताछ में उसने कई चौंकाने वाले खुलासे किए है। पुलिसस के अनुसार हिस्ट्रीशीटर ने दिन में ही फरार होने का प्लान तैयार कर लिया था। इसकी जानकारी अपने साथियों को दे दी थी। जब थाने में मिलने आए थे, तब प्लान बता दिया था। अपने साथियों को बुलाने के लिए हिस्ट्रीशीटर बिंदर ने संतरी का फोन यूज किया था। फरार होने के बाद आरोपी वीरेंद्र उर्फ बिंदर पर पांच हजार रुपए का इनाम भी घोषित किया था।

पुलिस के अनुसार रिमांड पर चल रहे वीरेन्द्र उर्फ बिंदर से पूछताछ कर रही है। पुलिस गिरफ्तार बिंदर से इस बात का पता लगा रही है कि फरारी के दौरान वह कहां-कहां पर रहा। आरोपी को शरण देने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। पूछताछ में बिंदर ने पुलिस को बताया कि उसने छह जून करीब पांच बजे ही हवालात से फरार होने का प्लान बना लिया था। प्लान को कामयाब बनाने के लिए बिंदर ने संतरी विजय कुमार गुर्जर के मोबाइल से अपने परिचित को फोन भी किया था। रात्रिकालीन संतरी को मोबाइल लेते समय यह बताया गया था कि घर से खाना मंगवाने के लिए फोन किया है।

जेल से भागने के बाद वह बणी में चले गए। बणी से अल सुबह पौने तीन बजे भिर्र गांव से कपड़े एवं पैसे लेकर हरियाणा होते हुए उत्तराखंड चले गए। उत्तराखंड से हरियाणा आकर अपने परिचितों के पास रहने लगे। आरोपी के हरियाणा आने पर पुलिस को इनपुट मिल गया था। इसके बाद थानाधिकारी महेंद्र सिंह के नेतृत्व पुलिस ने आरोपी को हरियाणा से गिरफ्तार कर लिया था। गौरतलब है कि हिस्ट्रीशीटर बिंदर छह जून को अपने साथी संजय कुमार के साथ हवालात से फरार हो गया था। संजय कुमार को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर लिया था।