रेकी के मामले में गिरफ्तार:पहचान छुपाकर हरियाणा में कबाडी का काम किया, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष मर्डर केस

झुंझुनूं2 महीने पहले
रेकी के मामले में गिरफ्तार

झुंझुनूं की बगड पुलिस ने पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष राकेश झाझडिया मर्डर मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मामले में धनूरी थाना के हंसासर निवासी विक्रम लोटासरा को गिरफ्तार किया है।

आरोपी ने राकेश की हत्या से पहले दो दिन रेकी की थी। पुलिस ने आरोपी को झुंझुनूं के न्यू इंडियन पब्लिक स्कूल, हाउसिंग बोर्ड से दस्तयाब किया है। इस हत्याकांड में पुलिस अब तक हिस्ट्रीशीटर अरविंद उर्फ गब्बर, इमरान मंजीत झाझडिया, उमेश बाबल, देशबंधु, प्रदीप मंगवा सहित 15 लोगों को गिरफ्तार चुकी है।

आरोपी विक्रम हत्या के बाद से फरार चल रहा था। पुलिस आरोपी विक्रम की कई दिनों से तलाश कर रही थी। आरोपी बार बार जगह बदल रहा था, इसलिए पुलिस के हाथ नहीं आ रहा था।

हरियाणा में होने की सूचना मिली

पुलिस आरोपी को पकडने के लिए लगातार दबिश दे रही थी, आरोपी को पकडने के लिए पुलिस की ओर से नारनौल, चूरू, बीकानेर, महेंद्रगढ़ में दबिश दी गई। इस दौरान पुलिस को आरोपी के हरियाणा के महेंद्रगढ़ में होने की सूचना मिली, जिसके बाद टीम की ओर से महेंद्रगढ़ में दबिश दी गई, लेकिन आरोपी को पहले ही भनक लग गई, जिसके बाद आरोपी ने अपना ठिकाना बदल लिया।

आरोपी वहां से भागकर झुंझुनूं आ गया। यहां से पुलिस ने आरोपी को दस्तयाब कर लिया। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है।

शराब ठेके और कबाडी का किया काम

आरोपी हरियाणा के महेंद्रगढ़ में पिछले 15-20 दिनों से शराब ठेकों पर खाली कार्टून, बोतल व पव्वों को फेरी के रूप में लेकर काम कर रहा था। इससे पहले आरोपी ने अलग अलग शहरों में पहचान छुपाकर फेरी की रूप में कबाडी का काम किया। पहचान छुपाने के कारण आरोपी विक्रम पुलिस के हाथ नहीं लग पाया था।

फतेहपुर में मारने की साजिश

आरोपियों ने राकेश झाझडिया को मारने के लिए फतेहपुर में घेराबंदी की थी, लेकिन उस समय राकेश बच गया था। उसके बाद दूसरे दिन आरोपियों ने झुंझुनू की काटली नदी में राकेश की हत्या कर दी थी।