मां से रेप की कोशिश, बेटे पर हमला:फरवरी में हुई वारदात पर अब तक पुलिस एक्शन नहीं, एसपी से मिली पीड़िता

झुुंझुनूं6 महीने पहले

झुंझुनूं के सदर थाना इलाका में फरवरी में महिला से रेप की कोशिश और उसके बेटे पर हमला करने वाले आरोपी की गिरफ्तारी नहीं होने की शिकायत लेकर परिजन एसपी से मिले। परिजनों का कहना है कि घटना को तीन महीने बीतने पर भी पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है। एसपी ने कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

बता दें कि 6 फरवरी 2022 को सदर थाना इलाके में आरोपी ने पैसों के लेन-देन को लेकर एक महिला का रास्ता रोका और खेत में ले जाकर रेप की कोशिश की। महिला चिल्लाई तो बेटा वहां पहुंचा। आरोपी ने उसकी आंख पर चोट की, जिससे बेटा घायल हो गया। महिला ने इस संबंध में सदर थाने में मामला दर्ज कराया था। परिजनों का कहना है कि अभी तक आरोपी फरार है। पुलिस पकड़ नहीं पाई। आज महिला के साथ उसके परिजन व कुछ समाजसेवी एसपी प्रदीप मोहन से मिले और कार्रवाई की मांग की।

रिपोर्ट के मुताबित पीड़ित महिला आरोपी सुशील की डेयरी में काम करती थी। 6 फरवरी को दोपहर करीब एक बजे मां-बेटा डेयरी से घर लौट रहे थे। इस दौरान डेयरी के मालिक सुशील कुमार ने नजदीकी खेत की पगडंडी पर उन्हें रोक लिया। सुशील ने महिला को रुपए देने चाहे। महिला का कहना है कि ये रुपए उसकी मजदूरी के थे। डेयरी पर वह दस हजार रुपए प्रति महीना पगार पर काम करती थी। पीड़िता ने रास्ते में रुपए लेने से मना कर दिया। कहा कि रुपए घर आकर दे जाए।

इस बात पर सुशील बिगड़ गया। महिला का 15 साल का बेटा साथ था इसलिए सुशील ने महिला को खेत में ले जाकर बात करने को कहा और उसे पकड़ कर खींचने लगा। महिला अड़ी तो बाल पकड़कर गिरा दिया। बेटा बचाने आया तो उसे धमकाया और दूर रहने के लिए कहा। उसने बेटे की आंख पर मुक्का मारा, इससे बेटा जख्मी हो गया।

महिला ने बताया कि उसने सुशील कुमार को डेयरी के लिए 30 हजार रुपए भी दिए थे। आरोपी ने उधार दिए गए रुपए भी नहीं लौटाए। इस सम्बन्ध में सदर थाने में मामला भी दर्ज करवाया गया था। लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है। एसपी प्रदीप मोहन शर्मा से मुलाकात कर प्रकरण से अवगत करवाया। एसपी ने मामले जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

खबरें और भी हैं...