अग्निपथ का विरोध, युवाओं ने किया उग्र प्रदर्शन:कलेक्ट्रेट के गेट पर चढ़ने की कोशिश, पुलिस ने रोका

झुुंझुनूं4 महीने पहले
अग्निपथ योजना के विरोध में युवाओं ने कलेक्ट्रेट पर विरोध प्रदर्शन किया।

झुंझुनूं के युवाओं में सेना भर्ती की नई योजना अग्निपथ को लेकर आक्रोश नजर आ रहा है। युवाओं ने सेना भर्ती की नई योजना का विरोध किया है। देश की रक्षा के लिए सबसे अधिक सैनिक और शहीद देने वाले झुंझुनूं में हर साल 40 हजार से अधिक युवा सेना भर्ती के लिए तैयारी करते हैं। केन्द्र सरकार की नई नीति से इन युवाओं को बड़ा धक्का लगा है। बड़ी संख्या में युवक कलेक्ट्रेट पहुंचे। यहां पर जमकर केन्द्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इसके बाद युवाओं ने कलेक्ट्रेट में घुसने की कोशिश की। बड़ी संख्या में कलेक्ट्रेट पर जाब्ता लगाया गया था। पुलिस पुलिस ने युवाओं को मौके से खदेड़ा। शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने के लिए पाबंद किया।

अग्निपथ के विरोध में युवाओं ने प्रदर्शन किया।
अग्निपथ के विरोध में युवाओं ने प्रदर्शन किया।

मौके पर मौजूद युवाओं ने सेना के नए पैटर्न अग्निपथ योजना का विरोध किया। एसएफआई नेता पंकज गुर्जर ने कहा कि झुंझुनूं में वर्ष 2019 के बाद सेना भर्ती रैली नहीं हुई है। झुंझुनूं में एक लाख के करीब युवा सेना भर्ती का इंतजार कर रहे थे। ऐसे में नई नीति के कारण युवाओं का भविष्य खराब हो रहा है।

झुंझुनूं जिले से बड़ी संख्या में युवा सेना की तैयारी करते हैं। लेकिन, नई पॉलिसी को लेकर अब विरोध कर रहे हैं।
झुंझुनूं जिले से बड़ी संख्या में युवा सेना की तैयारी करते हैं। लेकिन, नई पॉलिसी को लेकर अब विरोध कर रहे हैं।

झुंझुनूं के युवाओं सेना भर्ती के नए पैटर्न का विरोध किया है। अग्निपथ योजना में युवाओं को चार साल के लिए सेना में जाने का मौका मिलेगा। इस दौरान सिर्फ 25 प्रतिशत को सेना में स्थाई जॉब मिल सकेगा। झुंझुनूं में हर साल 40 हजार से अधिक युवा सेना में जाने के लिए तैयारी करते हैं। झुंझुनूं के बड़ी संख्या में युवा सेना में कार्यरत है।

युवाओं ने गेट पर चढ़ने का प्रयास किया। लेकिन, मौजूद पुलिस ने समझाइश की और उन्हें रोका।
युवाओं ने गेट पर चढ़ने का प्रयास किया। लेकिन, मौजूद पुलिस ने समझाइश की और उन्हें रोका।

झुंझुनूं के सरकारी आंकड़ों के अनुसार 50 हजार से अधिक सैनिक सेना में तैनात है। 55 हजार से अधिक सैनिक रिटायर है। झुंझुनूं जिले के 475 जवानों ने देश के लिए शहातद दी है। झुंझुनूं के युवाओं ने सेना के सबसे बड़े सम्मान परमवीर चक्र से लेकर सेना मेडल तक प्राप्त किए हैं। सेना भर्ती के नए योजना का जमकर विरोध हो रहा है। युवाओं ने शहर में रैली निकालकर विरोध प्रदर्शन किया। राष्ट्रपति के नाम कलेक्टर को ज्ञापन भी दिया।

विरोध प्रदर्शन के बाद कलेक्टर को राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन सौंपा।
विरोध प्रदर्शन के बाद कलेक्टर को राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन सौंपा।