बेटा मिला तो पिता की आंखों से निकले आंसू:SDM कोर्ट ने मां को दी थी कस्टडी; ADJ कोर्ट ने बदला फैसला, लिपटकर रोए थे बाप-बेटे

झुुंझुनूं5 महीने पहले

6 साल के बेटे की कस्टडी मिलते ही पिता की आंखों से एक फिर खुशी के आंसू झलक उठे। अपर सेशन न्यायाधीश (ADJ) आशुतोष कुमावत ने यह आदेश शनिवार को दिए। कोर्ट ने सूरजगढ़ थानाधिकारी और SDM को आदेश दिए कि तुरंत बच्चे की कस्टडी उसके पिता को सौंपी जाए और पालना रिपोर्ट 5 जुलाई तक कोर्ट में पेश की जाए। मामला झुंझुनूं का है।

दरअसल, खापड़वास (झज्जर) निवासी प्रीत सिंह जाट की शादी बेरला निवासी सुमन के साथ हुई थी। दोनों को एक बेटा जतिन व एक बेटी जिया हुई। दोनों के बीच मनमुटाव रहने लगा तो फरवरी 2022 में सुमन ने प्रीत के खिलाफ दहेज प्रताड़ना का मामला दर्ज करा दिया।

पति-पत्नी अलग रहने लगे। बेटी मां के साथ रहने लगी तो बेटा पिता के पास। सुमन ने SDM चिड़ावा से बेटे की भी कस्टडी की मांग की थी, जिस पर SDM कोर्ट ने बच्चे को मां के सुपुर्द करने का आदेश दे दिया था।

पत्नी से चल रहा रिटायर्ड फौजी का विवाद। पत्नी ने दहेज प्रताड़ना का केस दर्ज कर बच्चे की कस्टडी मांगी थी। चिड़ावा एसडीएम ने बेटे को मां की कस्टडी में दे दिया था।
पत्नी से चल रहा रिटायर्ड फौजी का विवाद। पत्नी ने दहेज प्रताड़ना का केस दर्ज कर बच्चे की कस्टडी मांगी थी। चिड़ावा एसडीएम ने बेटे को मां की कस्टडी में दे दिया था।

SDM कोर्ट ने मां को सौंपी थी बेटे की कस्टडी
चिड़ावा में SDM कोर्ट के 29 जून के फैसले ने पिता-पुत्र को अलग कर दिया था। पिता सदमे में बेहोश हो गया था। शनिवार को उस पिता की एडीजे कोर्ट में जीत हुई। बेटे को पिता को सौंपने के आदेश दिए गए।

बेटे को उसकी इच्छा के विरुद्ध चिड़ावा SDM कोर्ट ने मां सुमन के साथ भेज दिया था। इस फैसले के खिलाफ पिता ने अपने बेटे को पाने के लिए एडीजे कोर्ट में अपील की थी।

शनिवार को सुनवाई के लिए प्रीत सिंह अपने वकील के साथ झुंझुनूं ADJ कोर्ट पहुंचा। ADJ कोर्ट ने वकीलों और प्रीत की बात सुनी। ADJ आशुतोष कुमावत ने मामले में प्रीत सिंह के पक्ष में फैसला सुनाया। एसडीएम कोर्ट और प्रीत की पत्नी सुमन को आदेश दिया गया कि बेटे को तुरंत उसके पिता को सौंपा जाए।

झुंझुनूं के चिड़ावा एसडीएम दफ्तर से भावुक वीडियो सामने आया था। पिता और बेटा लिपट कर रोए थे और बेटे को खींचकर मां को सौंप दिया गया था, इसके बाद पिता कोर्ट परिसर में ही बेहोश हो गया था।
झुंझुनूं के चिड़ावा एसडीएम दफ्तर से भावुक वीडियो सामने आया था। पिता और बेटा लिपट कर रोए थे और बेटे को खींचकर मां को सौंप दिया गया था, इसके बाद पिता कोर्ट परिसर में ही बेहोश हो गया था।

अभी मां के पास है बेटा
अभी SDM कोर्ट के आदेश से बच्चा अपनी मां के पास है। SDM चिड़ावा ने 29 जून को आदेश जारी बच्चे को मां को सौंप दिया था। बच्चा अपने पिता और दादा के पास रहना चाहता था।

SDM के आदेश के बाद पिता से बेटे को दूर किया गया तो एक तरफ बेटा बेचैन हो गया तो दूसरी तरफ पिता बेहोश होकर गिर गया था। यह वाक्या देखकर हर कोई की आंखें नम हो गई थी।

मां को मिली कस्टडी, पापा से लिपटकर रोया बेटा; VIDEO:बोला- मुझे पापा से अलग मत करो...और बेहोश होकर गिर पड़ा सैनिक पिता