पोर्टल की स्लो स्पीड से स्टूडेंट परेशान:आधार व जन आधार मिलाने में लग रहा समय, स्कॉलरशिप में देरी

झुंझुनूं3 महीने पहले
पोर्टल की स्पीड नहीं आने से स्टूडेंट को परेशानी हो रही है। (फाइल फोटो)

जन आधार के पोर्टल में इन दिनों आ रही परेशानी से विद्यार्थियों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। खासकर छात्रवृति के लिए आवेदन करने वाले बच्चों को बड़ी ही दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। पोर्टल चलने में दिक्कत होने से आधार व जन आधार का मिलान स्कूल रिकॉर्ड से नहीं होने से ई-मित्रों पर संशोधन समय से नहीं हो रहा है।

बीच में कुछ दिन साइट सही चलने से काम भी हुए थे।लेकिन कार्यभार अधिक होने से पोर्टल बराबर नहीं चल पा रहा है। ऐसे में कुछ छात्रवृति की तारीखों को आगे भी बढ़ाया गया है।

पोर्टल 2.0 लॉन्च

सरकार के सूचना प्रौद्योगिकी विभाग ने हाल ही में जन आधार का नया पोर्टल 2.0 लॉन्च किया है। पोर्टल के सही काम नहीं करने से अपडेशन के कार्य में समय लग रहा है। ऐसे में समय लगने पर जन आधार डाउनलोड हो रहे है और न ही मुखिया का नाम जुड़ पा रहा है। स्कूल से प्रमाणीकरण होने के बाद भी नाम में संशोधन नहीं हो पा रहा है।

नए आधार व जन आधार के लिए शहर में पहले आवेदन नगर परिषद आयुक्त के पास व इसके बाद उपखंड अधिकारी से सत्यापित होने के बाद जयपुर जाता है। यह पूरी प्रक्रिया तीन चरणों में होती है। ऐसे में करीब बीस दिन तक का समय लग रहा है।

कई गांवों में ई-मित्र की व्यवस्था नहीं होने से ग्रामीणों को आधार व जन आधार से जुड़े सभी काम ई-मित्र पर कराने के लिए शहर आना पड़ता है। पोर्टल सही नहीं चलने से पूरा दिन खराब होने के बाद भी काम नहीं हो पाते है,ऐसे में खाली हाथ ही गांव लौटना पड़ता है। स्कूली बच्चों के छात्रवृत्ति की अंतिम तिथि 30 नवंबर है। स्कूलों के कई बच्चों के आधार कार्ड अभी तक नहीं बने हैं।

कुछ बच्चों के नाम जन आधार कार्ड में शामिल नहीं हैं। आधार कार्ड में नाम, सरनेम, माता पिता का नाम, जन्मतिथि में त्रुटियां हैं। समय से अपडेट नहीं होने से विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति आवेदन से वंचित रहने की आशंका है। ई मित्रों पर कार्यभार अधिक होने व साइट धीरे चलने से प्रमाण पत्र आदि बनाने के कार्य भी प्रभावित रहे।