पिलानी पंचायत समिति प्रधान व बीडीओ के बीच विवाद:आमने-सामने हुए प्रधान समर्थक व विरोधी, जम कर हुई नारेबाजी, तनातनी को देखते हुए प्रशासन रहा मौजूद

पिलानी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पंचायत समिति में धरने पर बैठे प्रधान व समर्थक - Dainik Bhaskar
पंचायत समिति में धरने पर बैठे प्रधान व समर्थक

पिलानी पंचायत समिति प्रधान बिरमा संदीप रायला व बीडीओ सुशीला यादव के बीच चल रहा विवाद आज और ज्यादा तूल पकड़ गया। पंचायत समिति परिसर में ही प्रधान समर्थक व बीडीओ समर्थक आमने-सामने हो गए, जिसके बाद माहौल गरमा गया, हालांकि पंचायत समिति में तहसीलदार मांगेराम पूनिया तथा सीआई इंद्र प्रकाश यादव पुलिस जाब्ते के साथ मौजूद थे। जिसके चलते किसी तरह की अप्रिय घटना नहीं हो पाई।

प्रधान बिरमा देवी समर्थक, बीडीसी मेम्बर्स व सरपंच के हालिया विरोध प्रदर्शन के बाद बुधवार को बीडीओ के पक्ष में भी बीडीसी मेम्बर्स व सरपंच खुल कर सामने आए। बंटी ढाबा में आयोजित एक बैठक में आज सरपंचों व बीडीसी मेम्बर्स ने प्रधान बिरमा देवी के खिलाफ भी मोर्चा खोल दिया।

बीडीओ के समर्थन में एकजुट हुए बीडीसी मेम्बर्स व सरपंच
बीडीओ के समर्थन में एकजुट हुए बीडीसी मेम्बर्स व सरपंच

बैठक में देवरोड़ से बीडीसी मेम्बर अनूप नेहरा ने प्रधान पर साधारण सभा की बैठक न बुलाने का आरोप लगाते हुए कहा कि अप्रैल के बाद अब तक बैठक आयोजित नहीं की गई है। प्रधान पंचायत समिति में आती नहीं है, इससे पंचायत समिति में विकास कार्य प्रभावित हो रहे हैं। अनूप नेहरा ने आरोप लगाया कि सारा खेल राजनीतिक है। सरपंच फोरम के पूर्व अध्यक्ष राजेश दोबड़ा ने बीडीओ पर भ्रष्टाचार व अन्य आरोपों को निराधार बताया। दोबड़ा का कहना था कि टेंडर ग्राम पंचायतों के माध्यम से हो रहे हैं, इससे पहले जो टेंडर हुए वो 20 प्रतिशत तक कम दरों पर हुए हैं ऐसे में भ्रष्टाचार के आरोप बेबुनियाद हैं।

तहसीलदार को ज्ञापन देते प्रधान के विरोधी गुट के जनप्रतिनिधि
तहसीलदार को ज्ञापन देते प्रधान के विरोधी गुट के जनप्रतिनिधि

बाद में बैठक में मौजूद सभी बीडीसी मेम्बर्स व सरपंच पंचायत समिति में तहसीलदार को ज्ञापन देने के लिए पहुंचे। पहले से धरने पर मौजूद प्रधान व उनके समर्थकों ने नारेबाजी की, जिसके बाद प्रधान के विरोध में एकजुट हुए जनप्रतिनिधियों ने भी नारेबाजी शुरू कर दी। दोनों तरफ से हो रही नारेबाजी के बाद माहौल एक बार तनावपूर्ण हो गया।

प्रशासन ने प्रधान के विरुद्ध ज्ञापन देने आए जनप्रतिनिधियों को ज्ञापन लेने के बाद समझाइश कर वापस भेज दिया तथा धरने पर बैठी प्रधान बिरमा देवी व उनके समर्थकों को भी पंचायत समिति के बाहर धरना देने को राजी किया।

खबरें और भी हैं...