इंदिरा रसोई योजना का शुभारंभ:मंत्री राजेंद्र गुढ़ा बोले- जनता मां-बाप होती है, जन प्रतिनिधियों को ध्यान रखना चाहिए

उदयपुरवाटी3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सैनिक कल्याण, पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास मंत्री राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने उदयपुरवाटी में सफाई व्यवस्था पर जन प्रतिनिधियों के लिए मोटिवेशनल भाषण दिया। उन्होंने कहा कि झाडू से अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में सफाई कर दी। रविवार को नगर पालिका की ओर से शुरू की गई निशुल्क इंदिरा रसोई के शुभारंभ समारोह में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे।

मंत्री गुढ़ा ने कहा कि लोग बिना किसी खास वजह के नाई, खाती, कुम्हार या सुनार नहीं बदलते, तो नेताओं को क्यों बदलेंगे। उन्होंने कहा कि पब्लिक नेता नहीं बदलना चाहती, लेकिन नेता को पब्लिक का बेटा बनकर रहना चाहिए। पब्लिक मां-बाप होती है इसलिए जन प्रतिनिधियों को जनता का ध्यान इस प्रकार रखना चाहिए जैसे मां बाप का रखा जाता है।

इंदिरा रसोई का शुभारंभ करते मंत्री राजेंद्र सिंह गुढ़ा।
इंदिरा रसोई का शुभारंभ करते मंत्री राजेंद्र सिंह गुढ़ा।

मंत्री गुढ़ा ने पालिका चेयरमैन व ईओ को कहा कि उदयपुरवाटी में दशहरा पर्व को खास बनाने के लिए कोई रचनात्मक शुरूआत करनी चाहिए। रावण मारने के लिए हजारों लोग एकत्रित होते हैं, लेकिन महज 10 मिनट में रावण दहन देखकर वापस लौट जाते हैं।

उन्होंने इस मौके पर विशेष सफाई कराकर खास आयोजन करने के निर्देश दिए। मंत्री गुढ़ा ने कहा कि अगर बजट की कमी हो, तो उसकी व्यवस्था भामाशाहों से या सरकार से करवाई जा सकती है, लेकिन आयोजन खास होना चाहिए। चेयरमैन रामनिवास सैनी ने कहा कि इस बार सरकार ने जितने कार्य किए हैं उतने कार्य पिछले 70 साल में भी नहीं हुए। उन्होंने कहा कि शहर में सरकारी कॉलेज, गौरव पथ, ट्रॉमा सेंटर, ऑक्सीजन प्लांट सहित कई उल्लेखनीय कार्य हुए हैं।

उन्होंने कहा कि पिछले 70 साल में जितने पट्टे जारी नहीं हुए उससे ज्यादा एक साल में जारी हुए हैं। ईओ हेमंत सैनी ने आमजन को सरकारी योजना से अवगत कराते हुए बताया कि जयपुर स्टेट हाइवे पर सरकारी अस्पताल के सामने निशुल्क रसोई खोलने का उद्देश्य यह है कि यहां बीमार के साथ आने वाले लोगों को तथा सरकारी काम से कोर्ट और एसडीओ कार्यालय में आने वाले लोगों को भी इसका लाभ मिल सकेगा।

इस मौके पर पालिका उपाध्यक्ष रुकसाना बानो, पार्षद शिवप्रसाद चेजारा, राजेंद्र मारवाल, एसडीओ रामसिंह राजावत, सुरेश मीणा किशोरपुरा, खेमचंद राठी आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...