लापरवाही से हो सकता था बड़ा हादसा:उदयपुरवाटी में फायर ऑफिस के सामने लगी आग, लेकिन ना फायर ब्रिगेड पहुंची और ना ही फायरमैन

उदयपुरवाटी14 दिन पहले

शहर में जयपुर स्टेट हाइवे पर नगर पालिका के फायर ऑफिस के ठीक सामने सड़क के दूसरी तरफ स्थित ट्रांसफार्मर के नीचे शनिवार की रात अचानक आग लग गई। आग बुझाने के लिए ना फायरमैन मौजूद मिले और ना ही फायर ब्रिगेड की गाड़ी उपलब्ध हुई।

स्टेट हाइवे पर बनाया दफ्तर
जानकारी के अनुसार सीकर स्टेट हाइवे पर नगरपालिका ने फायर ऑफिस बना रखा है। नगरपालिका दफ्तर शहर में स्थित होने से फायर ब्रिगेड की गाड़ी को मौके पर पहुंचने में लगने वाले समय को ध्यान में रखते हुए शहर के बाहर स्टेट हाइवे पर फायर का दफ्तर बनाया गया था।

मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारी
इस दफ्तर में फायर ब्रिगेड की छोटी गाड़ी उपलब्ध रहती है तथा हर समय फायरमैन की ड्यूटी रहती है। इस दफ्तर के ठीक सामने स्टेट हाईवे पर दूसरी तरफ बिजली के ट्रांसफार्मर के ठीक नीचे शनिवार की रात अचानक आग लग गई। देखते ही देखते नजदीक के पेड़-पौधों में भी आग लग गई। लोगों ने सरकारी दफ्तरों में सूचना दी तो एवीवीएनएल के अधिकारियों ने बिजली सप्लाई बंद करा दी। सीआई भंवरलाल कुमावत भी मौके पर पहुंच गए।

आम लोगों ने आग पर पाया काबू
गौरतलब है कि नगर पालिका के ईओ निलंबित चल रहे हैं और चेयरमैन राज्य के बाहर घूमने निकले हुए हैं। फायर के दफ्तर में कोई जिम्मेदार मौजूद नहीं था। ऐसे में लोगों ने नजदीक पशुओं को पानी पिलाने वाले पानी से आग पर काबू पाया। वहां मौजूद सभी लोग चर्चा कर रहे थे कि नगर पालिका वाले फायर दफ्तर के ठीक सामने ही जब आग नहीं बुझा सकते तो दूर दराज लगी आग को बुझाने के लिए कैसे उम्मीद कर सकते हैं। वहीं गनीमत यह रही कि कोई जनहानि नहीं हुई।

इनका ये कहना
दिन के समय पूरे दिन गाड़ी और फायरमैन मौजूद रहते हैं लेकिन रात को व्यवस्था ऑन कॉल रहती है। मुझे सूचना भी नहीं मिली थी, अगर सूचना मिलती तो व्यवस्था करवा देते।
एडवोकेट रामनिवास सैनी, चेयरमैन नगरपालिका उदयपुरवाटी

खबरें और भी हैं...