श्री तिरुपति बालाजी मंदिर में चार दिवसीय पाटोत्सव:बंदोली व विशाल तुलसी यात्रा निकाली, बड़ी संख्या में उमड़े लोग

भोपालगढ़14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

श्री तिरुपति बालाजी मंदिर में चार दिवसीय पाटोत्सव का आयोजन नानी बाई मायरे के भव्य आयोजन के साथ शुरू हुआ। गोवत्स राधाकृष्ण महाराज के मुखारविंद से नानी बाई मायरे की कथा सुनने के लिए आस्था का सैलाब उमड़ रहा है। वहीं बालाजी के विवाह उत्सव को लेकर आज सब्जी मंडी पीपाड़ शहर से तुलसी यात्रा व बड़ी बंदोली तिरुपति बालाजी मंदिर के लिए रवाना हुई। इसमें शामिल होने वाली सभी माताओं बहनों को भगवान तिरुपति बालाजी के मंत्रोच्चारण से सिंचित तुलसी पौधा और अभिषेक किया गया एक सिक्का भी प्रदान किया गया।

तुलसी यात्रा शहर के मुख्य बाजार सहित विभिन्न मार्गों से होती हुई बालाजी मंदिर आकर सम्पन्न हुई। इस दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए महिला पुलिस कांस्टेबल के साथ माकूल पुलिस जाप्ता भी तैनात रहा। शहर में पाटोत्सव को लेकर चार दिवसीय धार्मिक आयोजन के चलते पूरा शहर भक्ती के सरोबार में रंगा नजर आने लगा है। बालाजी मंदिर परिसर में महाअभिषेक एवं वस्त्र सेवा के दौरान मुख्य यजमान कोशल्या देवी रामविलास चांडक थे।

इस दौरान भी भारी संख्या में बालाजी के भक्तों ने भाग लेकर आंध्र प्रदेश से आए विद्वान पंडितों के सान्निध्य में विधि विधान से महा अभिषेक पूजन सम्पन्न करवाया गया है। आयोजन समिति ने शहरवासियों से धार्मिक आयोजन का अधिकाधिक लाभ उठाने की अपील भी की गई है। धार्मिक आयोजन में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए गर्मी मद्देनजर बड़े बड़े कूलर व ठंडे पानी की विशेष व्यवस्था भी की गई है। तुलसी यात्रा के दौरान राजस्थान ब्राह्मण महासभा सहित विभिन्न संगठनों द्वारा जल पानी की व्यवस्था की गई।

खबरें और भी हैं...