टीचर ने थाने में की शिकायत:15 साल के किशोर ने फेक ऐप से टीचर को किए कॉल वर्चुअल नंबरों से न्यूड फोटो भी भेजे, पुलिस ने पकड़ा

जोधपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टीचर को उन्हीं के परिचितों के नंबर से कॉल करता रहा। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
टीचर को उन्हीं के परिचितों के नंबर से कॉल करता रहा। (फाइल फोटो)

शास्त्री नगर थाना इलाके में स्थित एक निजी स्कूल की टीचर को अज्ञात शातिर फेक कॉलिंग ऐप से मोबाइल पर लगातार कॉल करता। फिर टीचर के ही नंबर से पिज्जा भी ऑर्डर करने लगा। जबकि टीचर ने अपने मोबाइल से ऐसे कोई ऑर्डर ही नहीं किए थे। इतना ही नहीं, शातिर ने वर्चुअल नंबरों से महिला को कॉल कर न्यूड फोटो भेजी। जब मामला पुलिस के समक्ष पहुंचा, तो एकबारगी पुलिस भी हैरान रह गई।

पुलिस ने साइबर एक्सपर्ट मुकेश चौधरी की मदद ली। उन्होंने केस की गंभीरता को देखते हुए तत्काल अनुसंधान शुरू कर दिया तो चौंकाने वाला खुलासा हुआ। ये हरकतें करने वाला शातिर महज 15 साल का किशोर निकला। पुलिस ने उसे तुरंत दस्तयाब कर लिया। कार्रवाई में थानाधिकारी माथुर और हैड कांस्टेबल तेजाराम व कमलेश भी शामिल रहे।

पेशेवर हैकर की तरह करता करतूतें, पुलिस जानकर हुई दंग

एक टीचर अपने मोबाइल पर लगातार आ रहे अनचाहे कॉल्स से परेशान होकर शास्त्रीनगर थाने में केस दर्ज कराने पहुंची। शास्त्रीनगर थानाधिकारी पंकजराज माथुर ने बताया कि उन्हें 3 अगस्त से इंटरनेट कॉल आने लगे थे। इनमें कभी विदेश के नंबर से तो कभी टीचर के परिचित लोगों के नंबर से कॉल आए जबकि, हकीकत में उनके परिचितों ने कॉल ही नहीं किए थे।

इसका पता तब चला, तब टीचर ने उन लोगों से बात की जिनके नंबर से कॉल आए थे। इसी दौरान टीचर को पता चला कि इस तरह की फेक कॉल्स उनके साथी स्टाफ व अन्य लोगों को भी आई हैं। रिपोर्ट के अनुसार अज्ञात शातिर ने 4 अगस्त को तो टीचर के नाम से पिज्जा भी ऑर्डर कर दिया और डिलीवरी बॉय स्कूल तक पिज्जा देने पहुंच गया था।

इंटरनेट के जरिए ऐप डाउनलोड किए, फिर चेहरा बदल न्यूड फोटो भी भेजी
नाबालिग ने मोबाइल पर विभिन्न ऐप डाउनलोड कर वर्चुअल नंबरों से महिला के मोबाइल पर आए वाट्सऐप मैसेज के वर्चुअल नंबरों से इंटरनेट कॉल करने लगा। इसके बाद वाट्सऐप पर महिला के न्यूड फोटो (जिसमें महिला का चेहरा लगा दिया) भेजना शुरू कर दिया। इतना ही नहीं, उस पर फर्जी डीपी भी लगा डाली।

खबरें और भी हैं...