परीक्षा देकर तो दिखाइए:आधे घंटे में 2 पेपर, दोनों के केंद्र में 40 किमी की दूरी, एडमिट कार्ड पर लिखा- आधा घंटे पहले पहुंचें

जोधपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
80 की स्पीड में गाड़ी चलाएं तो भी पहुंचना मुश्किल। - Dainik Bhaskar
80 की स्पीड में गाड़ी चलाएं तो भी पहुंचना मुश्किल।

वर्धमान महावीर कोटा ओपन यूनिवर्सिटी के जुलाई बेच की परीक्षा 10 दिसंबर से शुरू हो रही है। सोमवार को इसके प्रवेश पत्र जारी हो गए। प्रवेश पत्र देख कई विद्यार्थी दुविधा में पड़ गए हैं। कारण एक ही दिन में उनके दो-दो पेपर हैं और वह भी अलग-अलग परीक्षा केंद्रों पर। दोनों परीक्षा केंद्रों के बीच 30 से 40 किमी की दूरी है। समस्या यहीं खत्म नहीं होती, दोनों पेपरों की परीक्षा के बीच 30 मिनट का ही समय मिलेगा। इसी समय में 30 से 40 किमी की दूरी तय कर दूसरे पेपर की परीक्षा देनी होगी। ऐसे में वे पसोपेश में है कि आखिर परीक्षा कैसे देंगे।

दोनों परीक्षाएं अलग-अलग केंद्रों से उन्हें इतनी तकलीफ नहीं, जितनी दोनों पेपरों के बीच महज 30 मिनट के समय से है। एक परीक्षा देने के बाद वे अगर 80 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से जाएंगे तो ही परीक्षा में बैठ पाएंगे। परीक्षाओं में गड़बड़ियों को लेकर प्रदेश का नाम पहले से बदनाम है। इससे पहले भी रीट, एसआई, कांस्टेबल व पटवारी भर्ती परीक्षाओं में गड़बड़ियों से कई अभ्यर्थियों का भविष्य दांव पर लग चुका है।

गुड़ा विश्नोइयान की छात्रा धापू ने बताया कि इस टाइम टेबल से एक परीक्षा नहीं दे पाऊंगी। उन्होंने बताया कि कोटा ओपन विवि के जोधपुर स्थित स्थानीय केंद्र पर फोन लगाया लेकिन कोई जवाब नहीं दे रहा। हमारी वर्ष भर की मेहनत पर पानी फिर जाएगा। आदर्श महाविद्यालय से एसएलबीएस कॉलेज तक बीच में 10 के करीब ट्रैफिक प्वाइंट है। इनमें कई जगह एक से डेढ़ मिनट ट्रैफिक रुकता है। अगर सबसे सीधे रूट को देखें तो चौपासनी पहला पुलिया, आखलिया चौराहा, बॉम्बे मोटर चौराहा, पांचवीं रोड, शनिचरजी का थान, जालोरी गेट, एमजीएच, दूध मंदिर, नई सड़क व पावटा तक ट्रैफिक प्वाइंट पर रुकते-रुकते चलना पड़ता है। इसके बाद रसाला रोड, कल्याणसिंह कालवी प्याऊ, सारण नगर पुलिया, बनाड़ होते हुए डांगियावास आएगा। यहां हर वक्त सबसे ज्यादा यातायात का दबाव रहता है।

गगाड़ी की सुमित्रा का 31 दिसंबर को 1:30 से 3 बजे तक इतिहास का पहला पेपर आदर्श महाविद्यालय चौहाबो पहला पुलिया पर है। उसी दिन 3:30 से 5 बजे तक दूसरी परीक्षा एसबीएलएस इंजीनियरिंग कॉलेज डांगियावास में है। दोनों सेंटर में 40 किमी की दूरी महज आधे घंटे में पार करनी है। जबकि प्रवेश पत्र पर आधे घंटे पहले आने व उपस्थिति सुनिश्चित करने का श्रम करने के बारे में लिखा है।

कल ही एडमिट कार्ड जारी हुए हैं। लिस्ट आने पर पता चलेगा कितने विद्यार्थियों के अलग-अलग सेंटर है। केंद्र बदलना विवि के हाथ में है। हम सिर्फ परीक्षा कराते हैं।
- सुखराम, प्रिंसिपल, आदर्श महाविद्यालय
हमारे पास ऐसी शिकायत नहीं आई है। अलग-अलग सेंटर आए हैं तो रीजनल सेंटर पर शिकायत करें। इसका समाधान करवा दिया जाएगा।
प्रो. बी. अरुण कुमार, एग्जाम कंट्रोलर, कोटा विवि

खबरें और भी हैं...