पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नहीं थमी कोरोना सुनामी:जोधपुर में एक दिन में मिले 2302 नए संक्रमित, 20 की मौत, 2019 को ठीक होने पर किया डिस्चार्ज

जोधपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।
  • जोधपुर में अब 25,360 एक्टिव केस

जोधपुर में कोरोना की सुनामी थमने का नाम नहीं ले रही है। दूसरी तरफ प्रशासन अब संक्रमितों की सही संख्या को बताने के कतराने लगा है। जोधपुर में आज 2602 नए संक्रमित मिले और 20 मरीजों ने दम तोड़ दिया। जोधपुर में आज पहली बार एक ही दिन में दो हजार से अधिक 2019 मरीजों को ठीक होने पर डिस्चार्ज किया गया। जोधपुर में आज संक्रमण दर 39 फीसदी दर्ज की गई। जोधपुर में अब 25,360 एक्टिव केस हैं।

कोरोना महामारी नित नए सदमे और झटके दे रही है। शहर में गुरुवार को 3001 नए संक्रमित मिले थे। कोरोनाकाल में यह पहली बार है कि एक दिन के पॉजिटिव का आंकड़ा 3000 से अधिक आया। जबकि विभाग की ओर से 2301 संक्रमित ही बताए गए। मई के 7 ही दिन में संक्रमित मरीजो का आंकडा 15031 तक जा पहुंचा है। जबकि 230 संक्रमिताें ने दम ताेड़ दिया। इधर अच्छी बात यह है कि डिस्चार्ज होने वालों का आंकड़ा भी लगाातार बढ़ते हुए 10,806 हो गया है। जनवरी से अब तक 50,404 पॉजिटिव मरीज हुए जिनमें से 24,850 को डिस्चार्ज किया गया है। इस दाैरान 674 की माैत हुई है।

मौत के आंकड़े सिर्फ सरकारी अस्पतालों के

शहर में कोरोना संक्रमितों की मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। गंभीर बात यह है कि सरकार और जनता को जो मौतें बताई जा रही हैं, उनसे कहीं अधिक जानें महामारी से जा रही हैं। चिकित्सा विभाग के अफसर सरकारी अस्पतालों में हो रही मौतों में से कुछ मौतें सरकार और जनता को बता रहे हैं। जबकि सरकारी के साथ ही कोरोना इलाज में लगे जिले के कई निजी अस्पतालों में भी कोविड पेशेंट्स की मौतें हाे रही हैं। कोरोना मरीजों के इलाज में लगे 9 निजी अस्पतालों से उनके यहां हो रही मौतों के बारे में पूछा। उन्होंने कहा कि हमारे यहां होने वाली प्रत्येक मौत की सूचना तुरंत चिकित्सा विभाग के द्वारा बनाए गए व्हाट्सएप ग्रुप में भेजनी होती है। इसके बाद पूरे दिन में होने वाली मौतों की एक साथ रिपोर्ट बनाकर मेल भी की जाती है। लेकिन ये मौतें कहां दर्शाई जा रही हैं, इस पर चिकित्सा विभाग और प्रशासन चुप्पी साधे है।