प्रदेश में एक हफ्ते में 300 से 3300 हुए केस:राजस्थान के 33 में से 32 जिले कोरोना की जद में, 212 दिन बाद एक्टिव केस भी 10 हजार पार

जोधपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शुक्रवार को कोविड से जोधपुर, जयपुर व करौली में एक-एक जान गई।  - Dainik Bhaskar
शुक्रवार को कोविड से जोधपुर, जयपुर व करौली में एक-एक जान गई। 

देश में शुक्रवार को 1.37 लाख और राजस्थान में 3300 नए मरीज मिले। छह दिन पहले संक्रमण 23 जिलों में था, अब 32 जिले इसकी जद में आ चुके हैं। एक दिन पहले मिले मरीजों से यह 644 ज्यादा है। 7 माह बाद एक बार फिर राजस्थान की पाॅजिटिव दर 5.72% हो गई है। 9 जून 2020 के 212 दिन बाद शुक्रवार को राज्य में एक्टिव केस फिर 10 हजार पार हो गए, अब कुल एक्टिव केस 10,287 हैं। इसमें से आधे 5776 एक्टिव केस तो जयपुर के हैं।

  • केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी, पूर्व मंत्री सराफ, माकन, राजभवन व सचिवालय के 70 कर्मी संक्रमित
  • जोधपुर, जयपुर और करौली में एक-एक मौत, 7 माह बाद राज्य में संक्रमण दर 5.72% पर आई
  • देश में शुक्रवार काे 150 कराेड़ डाेज का आंकड़ा पार कर लिया। यह पड़ाव भारत ने 11 माह 23 दिन में पार किया है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बाद अब केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी, पूर्व चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ और उनके रिश्तेदार, कांग्रेस प्रदेश प्रभारी अजय माकन समेत राजभवन व सचिवालय के 70 से ज्यादा कर्मचारी संक्रमित हैं। सर्वाधिक नए केस 1527 जयपुर में मिले। जोधपुर में 440 रोगी मिले, यहां पाॅजिटिव दर 12.41% है। सीएम गहलोत ने कहा है, ‘केंद्र सरकार छोटे बच्चों का वैक्सीनेशन जल्द शुरू करे और बूस्टर डोज का दायरा बढ़ाए। जनप्रतिनिधि-कर्मचारी और स्वयं सेवी लोगों को प्रेरित करें।’

ऑक्सीजन- पिछले पीक से ढाई गुणा अधिक, 1050 मीट्रिक टन उपलब्धता
दूसरी लहर के पीक में आॅक्सीजन न होने से स्थिति बिगड़ी थी। रोज 900 मीट्रिक टन से ज्यादा तक की खपत हुई थी। औसत डिमांड 406 मीट्रिक टन थी। हेल्थ के अफसरों के अनुसार अब 461 नए आॅक्सीजन प्लांट्स से 400 मीट्रिक टन, 40 हजार कंसन्ट्रेटर्स से 400 मीट्रिक टन उपलब्ध है। भिवाड़ी में 125 मीट्रिक टन आदि मिलाकर 1050 टन का प्रबंध है। कुल 1.40 लाख जनरल, आईसीयू, वेंटिलेटर बेड भी हैं।

संक्रमण- फैलने की यही रफ्तार रही, तो इसी माह 1 लाख पार होंगे एक्टिव केस
पिछले पीक में एक्टिव केस 2.14 लाख तक पहुंचे, अब मात्र 7 दिन में 1 हजार से 10 हजार पार हुए हैं। तीसरी लहर इतनी तीव्र है कि 7 में से 3 दिन तो रोज 200% केस बढ़ रहे हैं। यही गति रही तो इसी माह 31 जनवरी तक ही एक्टिव केस एक लाख पार होंगे। एक दिन पहले एक्टिव केस 7268 थे, जो अब 10,287 हैं। इसी तरह शुक्रवार को 4,22,350 टीके लगे। अब तक कुल 8.50 करोड़ डोज लगाई जा चुकी हैं।

दौसा, भरतपुर, प्रतापगढ़ में सर्वाधिक 94% एंटीबॉडी
डूंगरसिंह राजपुरोहित/सुरेन्द्र स्वामी | जयपुर. राजस्थान के 90% लोगों में एंटीबाॅडी विकसित हो चुकी है। यह जानकारी सामने आई है राज्य में हुए सीरो सर्वे से। तीसरी लहर के खतरे को देखते हुए सरकार ने जयपुर, अजमेर समेत 14 जिलों में 17,003 सैंपल लेकर यह सर्वे कराया था। इसके बाद से दावा किया जा रहा है कि राज्य अब हर्ड इम्यूनिटी की ओर बढ़ रहा है। सर्वे में यह भी सामने आया कि संक्रमित हुए 95% लोगों में एंटीबॉडी बन चुकी है। दौसा, भरतपुर और प्रतापगढ़ में सबसे ज्यादा 94% और सबसे कम उदयपुर में 83% एंटीबॉडी मिली है। सर्वे में वैक्सीन न लगवाने वालों में एंटीबॉडी का लेवल 74 फीसदी और वैक्सीन की पहली डोज लगा चुके वालों में 91 फीसदी मिला है। एसएमएस मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सुधीर भंडारी का कहना है कि प्रदेश के 14 जिलों में सीरो सर्वे के दौरान शहरी क्षेत्र में 91 प्रतिशत और ग्रामीण में 89 फीसदी लोगों में एंटीबॉडी मिली है।

खबरें और भी हैं...