पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

समर्थकों की उमड़ी भीड़:आसाराम की झलक पाने एमजीएच के बाहर उमड़ी भीड़, 2 महिलाओं को शांतिभंग में पकड़ा

जोधपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एमजीएच में फिर कराई जांच, रिपोर्ट पॉजिटिव। - Dainik Bhaskar
एमजीएच में फिर कराई जांच, रिपोर्ट पॉजिटिव।
  • तीन वाहन भी सीज किए

नाबालिग से यौन दुराचार के मामले में जेल में बंद आसाराम को इलाज के लिए महात्मा गांधी अस्पताल में भर्ती कराने के बाद गुरुवार को उनके समर्थक एक झलक पाने के लिए उमड़े। समर्थकों ने किसी तरह अस्पताल में प्रवेश करने की जुगत भी जुटाई, लेकिन पुलिस के माकूल बंदोबस्त के चलते उनको अस्पताल में प्रवेश नहीं करने दिया। सरदारपुरा थानाधिकारी हनुमान सिंह ने बताया कि 2 महिलाओं शिल्पी व पूर्वी को शांतिभंग में गिरफ्तार किया। वहीं दो अन्य महिलाओं के सोशल डिस्टेंसिंग के चालान बनाते हुए 3 वाहनों को सीज किया गया।

भीड़ अधिक होने से पुलिस ने सबको खदेड़ा। गुरुवार सुबह से ही अलग-अलग समूह में लोग अस्पताल के चारों तरफ पहुंचने लगे। समर्थक आसाराम की एक झलक पाने के लिए वहां पहुंचे थे, लेकिन सतर्क पुलिस ने ऐसे सभी लोगों को वहां से खदेड़ दिया। कोरोना संक्रमित होने के बाद बुधवार देर रात ऑक्सीजन लेवल घटने पर आसाराम को महात्मा गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

आसाराम का सीटी स्कोर 8 आया, डॉक्टरों की समझाइश के बाद ही लगवाया इंजेक्शन
सेंट्रल जेल में यौन शोषण के मामले में सजायाफ्ता आसाराम की कोरोना की रिपोर्ट गुरुवार को फिर पॉजिटिव आई। सांस में तकलीफ होने पर देर रात से एमजीएच आइसीयू में भर्ती आसाराम को चार लीटर प्रति मिनट की दर से ऑक्सीजन दी जा रही है। डॉक्टरों ने उनकी सीटी स्कैन कराई जिसकी रिपोर्ट में स्कोर 8 आया है।

इसके बावजूद आसाराम इलाज के लिए जरूरी इंजेक्शन लेने के लिए तैयार नहीं थे। जबकि ऑक्सीजन लगाने के बाद भी शरीर में ऑक्सीजन का स्तर 93 आ रहा था। सुबह डॉक्टर के कई बार कहने के बाद भी वे इलाज लेने से मना करते रहे। बाद में जब यह जानकारी एमजीएच के सीनियर डॉक्टर को मिली तो उन्होंने आसाराम को समझाया, जिसके बाद आसाराम इंजेक्शन लगाने के लिए तैयार हुए।

देर रात भर्ती कराने के बाद आसाराम का पुन: आरटीपीसीआर जांच के लिए सैंपल लिया गया। इसकी रिपोर्ट गुरुवार सुबह पॉजिटिव आई। जानकारी के अनुसार आसाराम के बाकी दूसरे पैरामीटर्स नॉर्मल हैं। गौरतलब है कि सेंट्रल जेल में 3 मई को आईएलआई लक्षण वाले संदिग्धों की जांच के साथ आसाराम का भी कोरोना सैंपल लिया गया था, जिसकी रिपोर्ट 5 मई को देर शाम पॉजिटिव आई। बुधवार देर रात आसाराम को सांस लेने में दिक्कत हुई तो जेल अधीक्षक ने जाप्ते के साथ एमजीएच रेफर किया, जहां संदिग्ध मानते हुए कोरोना सैंपल लेकर आईसीयू में भर्ती किया गया।

खबरें और भी हैं...