पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जोधपुर जेल में आसाराम की तबीयत बिगड़ी:सीने में दर्द और सांस लेने में तकलीफ के बाद MDM अस्पताल में भर्ती, दो-तीन दिन वहीं रहेगा

जोधपुर2 महीने पहले
तबीयत खराब होने के बाद आसाराम को अस्पताल लाया गया।
  • अस्पताल के बाहर पहुंचना शुरू हुए समर्थक
  • नए सिरे से आसाराम की जांचें की जा रही हैं

नाबालिग छात्रा के यौन उत्पीड़न मामले में जोधपुर जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहे आसाराम की तबीयत बिगड़ गई है। सीने में दर्द और सांस लेने में तकलीफ के बाद आसाराम को मंगलवार देर रात मथुरादास माथुर अस्पताल (MDM) में भर्ती कराया गया है। MDM में बुधवार सुबह उसके स्वास्थ्य की जांच की गई। फिलहाल सेहत स्थिर बनी हुई है। डॉक्टरों का कहना है कि जांच रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल पाएगा कि आसाराम को क्या और कितनी तकलीफ है। वहीं तबीयत बिगड़ने की सूचना के बाद उसके समर्थक MDM अस्पताल पहुंचने लगे हैं।

आसाराम से मिलने पहुंच रहे अनुयायी:MDM अस्पताल में पहरा, फिर भी पुलिस से बचने के लिए कोई चेहरे पर दुपट्‌टा तो कोई तौलिया बांधकर घुस रहा

जोधपुर जेल में बंद आसाराम ने मंगलवार रात सीने में तेज दर्द की शिकायत की। उसे सांस लेने में भी दिक्कत हो रही थी। इस पर आसाराम को जेल से कड़ी सुरक्षा के बीच रात 11 बजे महात्मा गांधी अस्पताल लाया गया। अस्पताल में ECG और चेस्ट एक्स-रे किया गया। हालांकि दोनों जांच रिपोर्ट ठीक मिली। आसाराम ने इसके अलावा डॉक्टरों से प्रोस्टेट, सांस लेने में दिक्कत व घुटनों में दर्द होने की बात कही। इसके बाद अन्य विशेषज्ञ डॉक्टरों को बुलाया गया।

आसाराम ने कहा कि अच्छा महसूस नहीं हो रहा है। एक साथ कई तरह की दिक्कत महसूस हो रही है। इसके बाद रात एक बजे उन्हें MDM अस्पताल शिफ्ट किया गया। वहां कॉर्डियोलॉजी विभाग में उसे भर्ती किया गया। आज सुबह डॉक्टरों ने नए सिरे से जांच करने के फैसला किया। डॉक्टरों का कहना है कि आसाराम की तबीयत स्थिर है।

हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. सांघवी ने बताया- आसाराम के सीने में अभी भी दर्द है। आसाराम का कहना है कि पूर्व में तीन ब्लॉकेज बता ऑपरेशन की सलाह दी गई थी। ऐसे में फिलहाल हम अभी दो-तीन दिन यहां भर्ती रखकर सभी जांचें करेंगे। इसके बाद इलाज के बारे में कोई फैसला लिया जाएगा।

जेल से बाहर आसाराम:तीन साल बाद बाहर दिखे आसाराम के चेहरे पर थकान हावी थी, पैदल चलकर अस्पताल गया

चेहरे पर थकान हावी, पैदल चलकर अस्पताल गया

मरते दम तक जेल में रहने की सजा भुगत रहा आसाराम इलाज कराने के लिए 3 साल के बाद जेल से बाहर आया। अस्पताल में आसाराम काफी थका हुआ और उदास नजर आया। उसके चेहरे पर उम्र के साथ-साथ जेल का असर साफ नजर आ रहा था। तबीयत खराब होने के बावजूद पुलिस वैन से वह बिना किसी सहारे के नीचे उतरकर अंदर तक गया। आसाराम ने कहा कि उसे सात बीमारियां है। सांस लेने में दिक्कत हो रही है, पेशाब करने में भी दिक्कत के साथ ही घुटने का दर्द रहता है। आज सीने में भी दर्द शुरू हो गया। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण शुरू होने के बारे में पूछे जाने पर उसने कोई जवाब नहीं दिया।

देर रात अस्पताल पहुंच गए समर्थक

आसाराम को जेल से अस्पताल लाए जाने की सूचना मिलते ही बड़ी संख्या में उनके समर्थक महात्मा गांधी अस्पताल पहुंच गए। बड़ी संख्या में तैनात पुलिस ने उन्हें बाहर ही रोक दिया। इसके बावजूद कुछ समर्थक अंदर पहुंच गए। बाद में पुलिस ने उन्हें खदेड़ दिया। आज सुबह से एक बार फिर समर्थक MDM अस्पताल पहुंचना शुरू हो गए हैं। अस्पताल के बाहर पुलिस उन्हें रोक रही है।

सितंबर 2013 से जेल में बंद है

आसाराम सितम्बर 2013 से जोधपुर जेल में बंद है। हाईकोर्ट के आदेश के बाद लोअर कोर्ट में आसाराम से जुड़े मामले की सुनवाई रोजाना की गई। इस कारण उसे रोजाना जेल से कोर्ट लाया जाता था। जनवरी 2018 में उसके मामले की सुनवाई पूरी होने के बाद उसे जेल से बाहर निकलने का अवसर नहीं मिला। 25 अप्रैल 2018 को सुरक्षा कारणों से उसे जेल के भीतर ही सजा सुनाई गई। तब से आसाराम जेल में ही बंद है।

सात साल में एक दर्जन याचिकाएं खारिज

जेल से बाहर आने के लिए आसाराम भरसक जतन कर चुका है, लेकिन लोअर कोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक हर बार उसकी जमानत याचिकाएं खारिज होती गई। सात साल में आसाराम की एक दर्जन से अधिक जमानत याचिकाएं खारिज हो चुकी है। जबकि उसकी तरफ से देश के नामी वकील पैरवी कर चुके हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय निवेश जैसे किसी आर्थिक गतिविधि में व्यस्तता रहेगी। लंबे समय से चली आ रही किसी चिंता से भी राहत मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए बहुत ही फायदेमंद तथा सकून दायक रहेगा। ...

और पढ़ें