पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शादी में बैंडबाजे पर बैन पर पुलिस ने खूब बजाया:जोधपुर DCP के फेयरवेल में खूब बजे बैंडबाजे; घोड़े पर निकली सवारी, सोशल डिस्टेंसिंग भी भूल गए पुलिसकर्मी

जोधपुर9 दिन पहलेलेखक: पूर्णिमा बोहरा

कोरोना के प्रकोप के चलते राज्य सरकार ने सभी तरह के समारोह पर पाबंदी लगा रखी है। यहां तक कि शादी में दोनों पक्षों के सिर्फ 11 लोगों को ही शामिल होने की अनुमति है। शादी में बैंडबाजा और घोड़ी या टैंट तक प्रतिबंधित है, जुर्माने का भी प्रावधान है। लेकिन गुरुवार को जोधपुर कमिश्नरेट में अलग ही नजारा देखने को मिला। डीसीपी ईस्ट धर्मेंद्र यादव के सिरोही एसपी बनने पर दिए गए फेयरवेल में बाकायदा बैंडबाजे लाए गए, घोड़े पर एसपी की सवारी निकाली गई। इस कार्यक्रम के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग भी जमकर टूटी।

प्रदेशवासियों को अब तक सख्त कोरोना गाइडलाइन का पालन करने की जिम्मेदारी निभाने वाली पुलिस का खुद इस तरह गाइडलाइन तोड़ना चर्चा में आ गया। हालांकि पुलिस अधिकारियों ने इस संबंध में कहा कि डीसीपी के ट्रांसफर पर पहले कंधे पर उठाने की परंपरा थी, लेकिन कोरोना के चलते घोड़ी मंगवाई ताकि किसी को कोरोना का खतरा नहीं रहे। समारोह भी बेहद छोटा रखा गया।

कार्यालय में समारोह सा नजारा

जोधपुर कमिश्नरेट ईस्ट कार्यालय में बुधवार को समारोह सा माहौल नजर आया। बैंड की धुन दूर तक गूंज रही थी। कार्यालय परिसर में घोड़े पर सवार पूर्व डीसीपी धर्मेंद्र यादव सभी की बधाइयां स्वीकार कर रहे थे। मौका था आईपीएस धर्मेंद्र यादव के सम्मान में विदाई समारोह का। यादव का तबादला सिरोही एसपी के पद पर हो गया और जोधपुर कमिश्नरेट पूर्व में डीसीपी का पदभार भुवन भूषण यादव ग्रहण करेंगे। विदाई समारोह के दौरान घोड़े पर बिठाकर, साफा पहना कर बैंड की धुन पर कार्यालय परिसर में परेड भी करवाई गई।

ढाई वर्ष में क्राइम रोकने और साइकिल पर दौरे से चर्चित हुए थे

आईपीएस यादव का जोधपुर में करीब ढाई वर्ष का कार्यकाल रहा। इस दौरान जोधपुर में बढ़ते क्राइम को रोकने के लिए उन्होंने उल्लेखनीय काम किया। जोधपुर में अवैध हथियारों की तस्करी को रोकने की दिशा में ठोस कदम उठाए। कुछ ब्लाइंड मर्डर का खुलासा भी किया। इंजीनियर की डिग्री हासिल कर आईपीएस बने उत्तर प्रदेश के यादव की पहली पोस्टिंग जोधपुर में मिली थी। कोरोनाकाल में अक्सर वे साइकिल पर शहर की तंग गलियों में गश्त करते थे। इससे भी वे काफी चर्चित हुए थे।

खबरें और भी हैं...