पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

9 दिन में 19 टैंकर ‘संजीवनी’ पहुंची:बढ़ते मरीज प्रशासन के लिए चुनौती, 2-3 दिन इंतजार के बाद मिल रहे सिलेंडर

जोधपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रशासन के प्रयास: टैंकर के आने से लेकर प्राइवेट वैंडर तक अफसरों की तैनाती की गई
  • जरूरत: लोगों का कहना है कि घर पर ऑक्सीजन मरीज को मिले, इसके लिए व्यवस्था बने

कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है। हालात बिगड़ रहे हैं। नौ दिन में 19 टैंकर ‘संजीवनी’ यानी ऑक्सीजन पहुंच चुकी है। मगर बढ़ते मरीजों को देखते हुए प्रशासन के चेहरे पर चिंता की लकीरें हैं। संजीवनी की व्यवस्था उनके लिए चुनौती बन गई है। हर दिन लिक्विड ऑक्सीजन लेकर टैंकर जोधपुर पहुंच रहे हैं। मगर अस्पताल में मरीजों को देखते हुए डिमांड बढ़ गई है।

इधर, आमजन सिलेंडर को लेकर ऊहापोह की स्थिति में हैं। जिन्हें अस्पताल से छुट्‌टी दी जा रही है वो चाहते हैं कि घर में ऑक्सीजन सिलेंडर की उपलब्धता रहे। इसके लिए वो डॉक्टर से पर्ची भी बनवा रहे हैं। लेकिन किसी को दो-तीन दिन सिलेंडर के लिए इंतजार करना पड़ रहा है तो किसी को दो-तीन घंटे कतार में खड़ा होना पड़ रहा है।

लोगों का कहना है कि घरों में मरीज को सिलेंडर आसानी से उपलब्ध हो सकें, इसलिए प्रशासन को एक व्यवस्था बनानी चाहिए। हालांकि लिक्विड ऑक्सीजन के टैंकर के आने से लेकर प्राइवेट वैंडर तक जिला प्रशासन ने अफसरों की तैनाती कर दी है। मगर बढ़ता संक्रमण चौतरफा परेशानी खड़ी कर रहा है।
अस्पताल में ‘नो बेड’, घर पर मरीजों को संजीवनी का संकट
1. नदीम के पिता कोरोना पॉजिटिव आ गए थे। अस्पताल में नो बेड की स्थिति को देखते हुए घर पर ही इलाज शुरू किया। लेकिन सांस में दिक्कत होने से वो सिलेंडर लेने के लिए गए। पर दो-तीन जगह से उन्हें सिलेंडर नहीं मिला। आखिरकार डॉक्टर से पर्ची लिखाकर आए और फिर लाइन में दो घंटे इंतजार किया। तब कहीं जाकर सिलेंडर मिला।
2. सूरज के भाई कोरोना संक्रमित हो गए। ऑक्सीजन लेवल भी 92 से कम हो रहा था। ऐसे में ऑक्सीजन के लिए सिलेंडर की आवश्यकता थी। दो दिन तक प्रयास करने के बाद सिलेंडर मिला। ऐसे कई रोगी हैं, जिन्हें घर पर सिलेंडर के लिए परेशानी उठानी पड़ रही है। इस आपदा में प्रशासन प्रयास कर रहा है, मगर परेशानी कम होने का नाम नहीं ले रही।
जामनगर-भिवाड़ी से लगातार आ रहे टैंकर, अब तक 252.96 किलो बांटी
जामनगर और भिवाड़ी से ऑक्सीजन के टैंकर लगातार आ रहे हैं। अब तक 252.96 किलो संजीवनी पहुंच चुकी है। रविवार को भी दो टैंकर जामनगर से जोधपुर पहुंचे। एक सुबह 12 टन लिक्विड ऑक्सीजन लेकर तो दूसरा 20 टन ऑक्सीजन लेकर पहुंचा। अब तक एमजीएच में 62.06, एमडीएमएच में 47.30, एम्स में 54.55, जोधपुर गैसेज में 71.10 और महाकालेश्वर में 17.95 किलो लिक्विड ऑक्सीजन खाली की गई है। इसमें रविवार शाम आए टैंकरों के आंकड़े शामिल नहीं हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें