पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

11 योजना क्षेत्र में बांटा जोधपुर:बासनी में कॉलेज-ऑफिस, चौपासनी में होटल-हॉस्पिटल व मंडोर में न्यू जोधपुर

जोधपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मास्टर प्लान-2031 लागू की अधिसूचना जारी
  • नगरीय क्षेत्र-1 में कहां क्या बनेंगे, क्या होगी भू-उपयोग की श्रेणी

करीब 8 साल में बनकर तैयार हुआ जोधपुर का मास्टर प्लान-2031 बुधवार को जेडीए प्राधिकरण की बैठक से अनुमोदित हुआ और गुरुवार को गजट में प्रकाशित होने के साथ लागू भी हो गया। जेडीए ने शहर को पांच क्षेत्रों में विभक्त करते हुए तीन नगरीय क्षेत्र यू-1, यू-2 व यू-3 बनाए हैं।

नगरीय क्षेत्र यू-1 का आधे से ज्यादा हिस्सा आवासीय है। जेडीए ने प्रत्येक योजना क्षेत्र में आने वाले हिस्से को समाहित करते हुए योजना क्षेत्र में भविष्य में विकसित होने व की जाने वाली गतिविधियों के लिहाज से जमीन के उपयोग की श्रेणी भी तय कर दी है।

1. परकोटा, बाहरी निर्मित योजना वाणिज्यिक एवं आवासीय
शहर की चारदीवारी के अंदर का क्षेत्र एवं समीप के सटते क्षेत्र सम्मिलित हैं। इसमें मेहरानगढ़, जसवंतथड़ा, घंटाघर, त्रिपोलिया बाजार, आडा बाजार, साेजती गेट, टाउन हाॅल, हाईकोर्ट परिसर, मेड़ती गेट का बाहरी क्षेत्र, कागा पहाड़ी, प्रतापनगर, कबीर नगरी, आनंद सिनेमा, रेलवे स्टेशन आदि मुख्य हैं। इस क्षेत्र को वाणिज्यिक एवं आवासीय की श्रेणी में रखा है।

2. सरदारपुरा योजना क्षेत्र में मिश्रित श्रेणी
इस योजना क्षेत्र में कमला नेहरू गर्ल्स काॅलेज, सोजती गेट, जालाेरी गेट, बोम्बे मोटर चाैराहा जिसमें संपूर्ण सरदारपुरा क्षेत्र, पीडब्ल्यूडी, हाईकोर्ट काॅलोनी, रातानाडा, ओल्ड यूनिवर्सिटी कैंपस, पुलिस लाइन, अजीत भवन परिसर, सिविल लाइंस आदि क्षेत्र सम्मिलित हैं। यह क्षेत्र आवासीय, वाणिज्यिक एवं शैक्षणिक गतिविधियों के केंद्र के रूप में रहेगा।

3. बासनी योजना: कॉलेज, दफ्तर, बाइपास सड़कें बनेंगी

रेजीडेंसी रोड, पाल रोड़, पीडब्ल्यूडी बाइपास, सेक्टर 7 से बासनी रोड एवं जेएनवीयू के सामने स्थित रोड के मध्य का क्षेत्र है। इसमें शास्त्री नगर, बासनी औद्योगिक फेज 1-2, काजरी, खेमे का कुआं आदि हैं। इसके अलावा पीडब्ल्यूडी बाइपास उत्तर की और विकसित एवं अर्द्धविकसित क्षेत्र हैं। क्षेत्र में काॅलेज, राजकीय कार्यालय, पीडब्ल्यूडी के बाईपास आदि सड़कें प्रस्तावित की गई हैं।

4. चौपासनी: रहवासी के साथ होटल, अस्पताल, बस स्टैंड बनेंगे
सूरसागर रोड के पश्चिम का विकसित चौपासनी हाउसिंग मंडल, चौपासनी स्कूल, चौखा ग्राम, उत्तर एवं पाल रोड़ के पश्चिम क्षेत्र, सेक्टर 23, डालीबाई मंदिर, बिड़ला हाॅस्टल शामिल हैं। कमला नेहरू नगर, चौपासनी हाउसिंग मंडल, कमला नेहरू नगर आदि क्षेत्रों में अनियोजित निर्माण हुआ है। यहां आवासीय क्षेत्र के अतिरिक्त होटल, चिकित्सा, बस स्टैंड आदि गतिविधियां प्रस्तावित की गई हैं।

5. पाल योजना: रहवासी के साथ पर्यटन पार्क, होटल, दफ्तर, सामुदायिक सुविधाएं
सालावास का पश्चिमी क्षेत्र, पाल रोड के दोनों ओर का क्षेत्र एवं बोरानाडा आदि क्षेत्र विकसित हैं। इसमें पाल ग्राम, शिल्पग्राम एवं बोरानाडा औद्योगिक क्षेत्र वर्तमान में विकसित है, जबकि अन्य क्षेत्र विकास की प्रकिया में हैं। इस क्षेत्र में आवासीय क्षेत्र के अतिरिक्त पर्यटन सुविधाएं, जिला व्यावसायिक केंद्र, उप जिला व्यावसायिक केंद्र, नगरीय स्तर के खुले स्थान, पार्क, राजकीय कार्यालय, बस स्टैंड एवं होटल जोन तथा अन्य सामुदायिक सुविधाओं के स्थल प्रस्तावित किए गए हैं। इसमें वेयर हाउसिंग, होलसेल मंडी यार्ड, गाेदाम, ट्रक टर्मिनल आदि प्रस्तावित हैं।

6. सांगरिया योजना क्षेत्र: उद्योग धंधे, ऑटोमोबाइल और ट्रांसपोर्ट यहां रहेंगे

जेएनवीयू एवं पाली रोड के दक्षिण का क्षेत्र, झालामंड चौराहे से जोजरी नदी तक पाली राेड के पश्चिम से सालावास रोड तक, तनावड़ा ग्राम के उत्तर का क्षेत्र, सालावास का पूर्व का क्षेत्र आदि सम्मिलित हैं। इस क्षेत्र के विकसित क्षेत्र में ट्रांसपोर्ट नगर, बासनी कृषि मंडी यार्ड, बासनी औद्योगिक क्षेत्र, सालावास रोड के पूर्व का क्षेत्र, सरस्वती नगर, मधुबन, कुड़ी भगतासनी एवं झालामंड क्षेत्र के आसपास का विकसित क्षेत्र, रीको मिनी ग्रोथ सेंटर, न्यास की सांगरिया आवासीय योजना आदि शामिल हैं। आवासीय क्षेत्र के अतिरिक्त पर्यटन सुविधा, जिला वाणिज्यिक/उद्योग, ट्रांसपोर्ट नगर, ऑटोमोबाइल्स मार्केट, चिकित्सा, स्टेडियम, वेयर हाउसिंग, पार्क एवं ओपन स्पेस का प्रावधान है।

7. मंडोर योजना क्षेत्र: न्यू जोधपुर को यहीं बसाया जाएगा, फायरिंग रेंज शिफ्ट होगी

इसकी सीमाएं दक्षिण में जयपुर रोड, पश्चिम में मंडोर रोड, ओसियां राेड, दईजर पहाड़ी क्षेत्र नगरपालिका सीमा के पूर्व की ओर का क्षेत्र शामिल है। नागाैर रोड के दोनों ओर का क्षेत्र एवं पूर्व में प्रस्तावित बाईपास रोड के पश्चिम का क्षेत्र सम्मिलित है। इस क्षेत्र के विकसित क्षेत्र में सर्किट हाउस, पावटा सब्जी मंडी, बैंक कालोनी, भदवासिया, फल सब्जी मंडी, कृषि मंडी यार्ड, रोडवेज आगार परिसर, पूंजना आवासीय क्षेत्र, चैनपुरा आवासीय क्षेत्र, आरटीओ ऑफिस, औद्योगिक क्षेत्र सम्मिलित हैं।

नागौर रोड पर सूरपुरा बांध क्षेत्र के पर्यटन क्षेत्र के रूप में विकसित होने की संभावनाएं हैं। आंगवणा ग्राम के पास शहर का प्रमुख ट्रांसपोर्ट नगर एवं ऑटोमोबाइल मार्केट स्थापित होने की प्रक्रिया में है। इस क्षेत्र में मिनी सचिवालय, नया औद्योगिक क्षेत्र, स्टेडियम, जिला वाणिज्यिक केन्द्र एवं काॅलेज तथा प्रस्तावित न्यू-जोधपुर व अन्य केन्द्रीय सुविधाएं प्रस्तावित हैं।

रक्षा विभाग की फायरिंग रेंज को शहर के बढ़ते आकार एवं सुरक्षा के कारणों से बाहर स्थानांतरित किया जाना प्रस्तावित है। फिर भी यह स्थल सुरक्षा सेना के लिए अन्य प्रयोजनार्थ काम आता रहेगा। इसके आस-पास वेयर हाउसिंग एवं गोदाम, थाेक व्यापार, अन्य थोक व्यवसाय के लिए स्थल प्रस्तावित किए गए हैं।

8. छावनी योजना क्षेत्र मिश्रित क्षेत्र, कई तरह की गतिविधियों की अनुमति
उम्मेद पैलेस, छावनी, वायुसेना व क्षेत्र, रातानाडा गणेश मंदिर छावनी क्षेत्र विकसित हैं तो बाहरी क्षेत्र व मुख्य मार्गों के सहारेे निर्मित उद्योगाें के अतिरिक्त क्षेत्र अविकसित है। आवासीय के अलावा सरकारी ऑफिस, होटल कैंपिंग साइट, औद्योगिक/व्यावसायिक केंद्र, गोदाम, सिटी लेवल पार्क, हॉस्पिटल, काॅलेज अन्य सामुदायिक सुविधाओं आदि के लिए स्थल प्रस्तावित हैं।

9. भाकरासनी योजना स्टेशन, फ्रेट कॉम्प्लेक्स बनेंगे, उद्योग दायरा बढ़ेगा
पाली रोड व पाल रोड के मध्य बोरानाडा औद्योगिक क्षेत्र के दक्षिण में तनावड़ा, भाकरासनी, मोगड़ा खुर्द , मोगड़ा कला, बासनी बाघेलाके क्षेत्र हैं। दक्षिण पश्चिम सीमा प्रस्तावित काॅर्पोरेट पार्क की सीमा लगती है। इसमें जीत काॅलेज, सालावास डिपाे, प्रस्तावित इंटीग्रेटेड फ्रेट काॅम्प्लेक्स, स्टेशन, बोरानाडा औद्याेगिक क्षेत्र के विस्तार हेतु प्रस्तावित भूमि सम्मिलित की गई है।

10. करवड़ योजना क्षेत्र नॉलेज सिटी यहीं बनेगी
मंडोर योजना क्षेत्र उत्तर भाग काे सम्मिलित किया, जिसमें नागौर सड़क के दोनों तरफ का क्षेत्र, करवड़, रालावास, बासनी करवड़ आदि ग्रामों, ग्रामीण पुलिस लाइन एवं रेलवे पुलिस फोर्स सम्मिलित है। उक्त योजना क्षेत्र आईआईटी, आयुर्वेद विवि, राष्ट्रीय फैशन टेक्नोलॉजी इत्यादि क्षेत्र (प्रस्तावित नाॅलेज सिटी) दक्षिण में हैं।

11. बनाड़ योजना: जरूरत प्रस्ताव अनुरूप तय होगा
मंडोर एवं छावनी योजना क्षेत्र के पूर्व दिशा में डांगियावास बाइपास एवं जयपुर मुख्य रोड के मध्य की भूमि एवं आसपास के क्षेत्र सम्मिलित है। इस क्षेत्र में बनाड़, उचियारडा, नांदड़ा कला, नांदड़ा खुर्द, सोढेर ढाणी, जाजीवाल कुतड़ी आदि ग्रामों को सम्मिलित किया है। यहां प्रस्तावों के अनुरूप भू-उपयोग निर्धारित किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

    और पढ़ें