कांग्रेस ने की नए जिलाध्यक्षों की घोषणा:कांग्रेस: उत्तर से मुस्लिम, दक्षिण से ब्राह्मण चेहरे को कमान दे संतुलन की कोशिश

जोधपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
15 साल बाद की घोषणा। - Dainik Bhaskar
15 साल बाद की घोषणा।

करीब 15 साल बाद कांग्रेस ने अपने नए जिलाध्यक्षों की घोषणा कर दी। पहली बार जोधपुर शहर में कांग्रेस के जिलाध्यक्ष उत्तर और दक्षिण क्षेत्र में अलग-अलग होंगे। एक तरफ अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष रहे चुके सलीम खान हैं तो दूसरी ओर वार्ड संख्या 51 के पार्षद व डीसीसी के निवर्तमान सचिव नरेश जोशी हैं। इधर, कांग्रेस देहात जिलाध्यक्ष के पद पर वर्तमान विधायक हीराराम मेघवाल को एक बार फिर जिलाध्यक्ष बनाकर कमान अनुभवी हाथों में सौंपी गई है। इनकी घोषणा बुधवार को एआईसीसी के महासचिव केसी वेणुगोपाल ने की।

सलीम खान (51) शैक्षणिक योग्यता : बीकॉम किस पद पर रहे : यूथ कांग्रेस के उपाध्यक्ष व अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष की जिम्मेदारी भी बखूबी निभाई। अनुभव : 1991 से राजनीति में।

नरेश जोशी (56) शैक्षणिक योग्यता : बीकॉम किस पद पर रहे : 1991 से डीसीसी में सचिव हैं। 1991 से 1994 तक एनएसयूआई जिलाध्यक्ष व यूथ कांग्रेस ब्लॉक में उपाध्यक्ष व वार्ड अध्यक्ष रहे। अनुभव : 1991 से राजनीति में।

लंबे समय से कांग्रेस संगठन में जिलाध्यक्ष पद पर ब्राह्मण चेहरे को जिलाध्यक्ष बनाने की मांग उठ रही थी। इसे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भलीभांति भांप लिया और एक छोर से चिर-परिचित परिस्थितियों के चलते अल्पसंख्यक तो दूसरे छोर से ब्राह्मण चेहरे को मौका देकर दोनों को राजी करने का भरसक प्रयास किया।
वार्डों में नई कार्यकारिणी जल्द बनाएंगे
कांग्रेस दक्षिण के जिलाध्यक्ष नरेश जोशी के अनुसार दक्षिण क्षेत्र में संगठन को मजबूत स्थिति में लाने के बहुत से काम करने है। वरिष्ठ कांग्रेसजनों को साथ संगठन को मजबूत करेंगे। नए युवाओं काे टीम में मौका देंगे। सरकार की नीतियों और योजनाओं को आमजन तक लेकर जाएंगे। वार्डों में नई कार्यकारिणी का गठन जल्द करेंगे।

सबको तवज्जो देंगे
कांग्रेस उत्तर के जिलाध्यक्ष सलीम खान के अनुसार नई टीम में युवा, महिला और बुजुर्गों को शामिल करेंगे। बूथ स्तर पर कार्यकर्ताओं को जोड़ने का अभियान चलाएंगे। वार्डों में नई टीम और यहां के विकास को प्राथमिकता दी जाएगी। संगठन की ताकत को और अधिक बढ़ाने के लिए आगामी दिनों में रणनीति बनाई जाएगी।

अब नजरें बोर्ड-आयोग पर कांग्रेस के जिलाध्यक्षों की घोषणा के बाद अब सभी कांग्रेस वरिष्ठजनों की नजरें बोर्ड और आयोग के पदों पर रहेगी। इसमें जोधपुर के कई ऐसे चेहरे हैं जिन्हें बोर्ड या आयोग में लिया जाएगा। इन सभी नेताओं ने जयपुर में पिछले कई दिनों से डेरा डाला हुआ है। हालांकि अभी यह साफ नहीं है कि मुख्यमंत्री कब इन पदों की घोषणा करेंगे, लेकिन सभी वरिष्ठ कांग्रेसजनों ने अपने-अपने स्तर पर पद पाने के लिए दौड़ शुरू कर दी है। इसमें कई नेता तो जिलाध्यक्ष बनने के लिए भी जयपुर में बैठे थे, लेकिन उनके हाथ कुछ नहीं लगा तो अब बोर्ड या आयोग में खाली पदों से उनको अास है।

खबरें और भी हैं...