हर माह खराब होने वाली सीटी स्कैन मशीन फिर डाउन:मथुरादास माथुर अस्पताल में 3 दिन से खराब पड़ी सीटी स्कैन मशीन, मरीज परेशान

जोधपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एमडीएम अस्पताल में पिछले तीन दिनों से सीटी स्कैन मशीन खराब पड़ी है। - Dainik Bhaskar
एमडीएम अस्पताल में पिछले तीन दिनों से सीटी स्कैन मशीन खराब पड़ी है।

एमडीएम अस्पताल में पिछले तीन दिनों से सीटी स्कैन मशीन खराब पड़ी है। मशीन पर अत्यधिक लोड होने का नतीजा है कि मशीन हर महीने में एक-दो बार दो-तीन दिन के लिए बंद ही रहती है। मशीन के बंद होते ही रिपेयरिंग के लिए इंजीनियर तो आ गए, लेकिन तीन दिन बाद गुरुवार देर शाम तक भी सीटी स्कैन मशीन शुरू नहीं हो पाई।

जानकारी के अनुसार मशीन में लगने वाले दो पार्ट खराब हुए है। इनमें से एक पार्ट नहीं मिलने के कारण एक पार्ट लगाने के बावजूद मशीन चालू नहीं हो सकी। हालांकि प्रशासन ने मशीन के खराब होने पर एमजीएच जाकर सीटी स्कैन जांच कराने या फिर एमडीएमएच में पीपीपी मोड पर संचालित एमआरआई में मरीजों के लिए निर्धारित दर पर एमआरआई स्कैन की व्यवस्था कर रखी है।

दूसरी ओर गंभीर मरीज जिनको सीटी करानी है उनको सीटी स्कैन की जगह एमआरआई कराने पर सीटी स्कैन की तुलना में अधिक रेडिएशन एक्सपोजर का खतरा होता है। इसकी जिम्मेदारी कोई नहीं लेता। एमडीएम अस्पताल में लगी मशीन पर संभाग भर से आने वाले मरीजों का भार है।

साथ ही पूरे अस्पताल में एक ही मशीन है। एमडीएमएच प्रशासन इस माह के अंत तक ट्रोमा अस्पताल भी शुरू करने की तैयारी में है। ऐसे हालात में बिना नई ट्रोमा मशीन और स्टाफ के ट्रोमा अस्पताल कैसे शुरू होगा? जानकारी के अनुसार पिछले सात साल से एक ही सीटी स्कैन मशीन यहां कार्यरत है और यह हर माह एक बार खराब जरूर होती है।

खबरें और भी हैं...