आग से झुलस गई थी महिला:गैस रिसाव से लगी आग पर मांगा पांच लाख का हर्जाना, इंडेन को अब देने होंगे 25 हजार

जोधपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोष आयोग ने गैस सिलेंडर का वाशर खराब होने से उपभोक्ता के घर आग लगने व स्वयं के झुलसने के एक मामले में इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन(जो इंडेन के नाम से घरेलू गैस सिलेंडर वितरित करती है) व स्थानीय गैस एजेंसी द्वारा उपभोक्ता को पच्चीस हजार रुपए हर्जाना अदा करने का आदेश दिया है। उपभोक्ता ने हालांकि पांच लाख रुपए का दावा किया था।

जोधपुर शहर के उम्मेदपुरा निवासी श्रीमती वीणा भंडारी ने आयोग के समक्ष इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन व स्थानीय वीरशिव गैस एजेंसी के विरुद्ध परिवाद प्रस्तुत कर बताया कि 23 मार्च, 2014 को रसोई में पुराना सिलेंडर खत्म होने पर उसने नया सिलैंडर लगाया। नए सिलेंडर का रबर वाशर खराब होने से गैस लिकेज होकर इसमें आग लग गई। जिससे वह झुलस गई। साथ ही उसके रसोई व पड़ोस के कमरे में रखा सारा सामान जल गया। वहीं घर का अन्य हिस्सा धुएं के कारम काला पड़ गया। आग बुझाने के प्रयास में वह स्वयं काफी झुलस गई। वीणा ने आयोग के समक्ष मकान को ठीक कराने व स्वयं का इलाज कराने पर कर्च हुए 5.06 लाक रुपए का दावा किया।

आयोग के अध्यक्ष डॉ श्याम सुन्दर लाटा, सदस्य डॉ अनुराधा व्यास, आनंद सिंह सोलंकी की बैंच ने सुनवाई के बाद त्रुटियुक्त सिलेंडर के कारण घटित उक्त दुर्घटना के लिए विपक्षीगण को जिम्मेदार ठहराते हुए परिवादिनी को 25 हजार रुपए हर्जाना व 5 हजार रुपए परिवाद व्यय अदा करने का इंडेन कंपनी व गैस एजेंसी को आदेश दिया है।

खबरें और भी हैं...