अपणायत पर प्रशासन का लॉकडाउन / 2 माह तक रोजाना 35 हजार भाेजन-किट बंटते, अब 5 हजार ही

सीएम का आभार पत्र सीएम का आभार पत्र
X
सीएम का आभार पत्रसीएम का आभार पत्र

  • संकटकाल में मददगाराें काे सीएम से सराहना, पर प्रशासनिक सख्ती ने जरूरतमंदाें के लिए हाथ घटाए

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 06:34 AM IST

जोधपुर. बहु बीती, थोड़ी रही, पल-पल गई बिताई...इक पल के कारण, ना कलंक लग जाए...यह कथन वर्तमान परिस्थितियों में जोधपुर पर लागू होता दिख रहा है। लॉकडाउन काे दाे माह हाे गए हैं। इस दाैरान शहर के दानवीरों, भामाशाहाें व सामाजिक व स्वयंसेवी संगठनाें ने भी बढ़-चढ़कर जरूरतमंदाें तक भाेजन व राशन पहुंचाया।

इस मुश्किल घड़ी में सेवा देने वाले ऐसे लाेगाें व संगठनाें काे खुद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पत्र लिखकर ना केवल हौंसला बढ़ाया, बल्कि सेवा को निरंतर जारी रखने का भी आग्रह किया। हालांकि इतना हाेने के बावजूद भी पुलिस व जिला प्रशासन इन मददगाराें की परेशानी नहीं समझ पाए।

प्रशासन लगातार इनके मदद कार्य पर सख्ती करता रहा। आखिरकार रोज-रोज प्रताड़ित होने की बजाय इन मददगाराें ने सहायता से हाथ खींचना ही बेहतर समझा। नतीजा- लाॅकडाउन 3 तक रोजाना करीब 30 से 35 हजार खाने के पैकेट वितरित हाे रहे थे। अब इनकी संख्या घटकर 5 से 7 हजार पैकेट तक ही रह गई है।

इनमें से भी कई रसोड़े बंद होने के कगार पर हैं। अपणायत के इस शहर में यह पहली बार हो रहा है कि सेवा कार्य में लगे लोग प्रशासन की बेतुकी पाबंदियों से परेशान ज्यादा हैं।
अब भी हजाराें जरूरतमंद परिवार व श्रमिक परेशान
लॉकडाउन-4 में शहर को छूट की राहत तो मिली है लेकिन कंटेनमेंट एवं कर्फ्यू जोन के दायरे में भी शहर का बड़ा क्षेत्र है। यहां पर पूर्व की भांति पाबंदियां लागू हैं। जहां शहर खुला है वहां भी जरूरतमंद लोगों की जिंदगी पटरी पर नहीं आई है। ऐसे में जरूरतमंदों, गरीब परिवारों व दिहाड़ी मजदूरों की बड़ी संख्या काे भाेजन, राशन आदि की आवश्यकता है। लेकिन प्रशासन की सख्ती से इन जरूरतमंद लाेगाें की मुश्किलें बढ़ने की आशंका है। 

काेराेनाकाल के संकटमाेचक  

मुख्यमंत्री ने इन संस्थाओं का लॉकडाउन-3 में भोजन व सूखी सामग्री के किट जरूरतमंदों तक पहुंचाने के लिए जताया आभार। (भोजन के पैकेट व सूखे पैकेट की यह संख्या तो सिर्फ प्रशासन के माध्यम से बांटने की है। हकीकत में तो इन भामाशाहाें, सामाजिक व स्वयंसेवी संगठनों ने इससे दाेगुना पैकेट व किट बांटे हैं।

  • विहिप-कुड़ी भगतासनी व भारत माता मंदिर

कुल भाेजन पैकेट-100000

  • माहेश्वरी सेवा समिति-सेक्शन सेवन, न्यू पाॅवर हाउस राेड

भाेजन पैकेट-160000 

  • लद्यु उद्याेग भारती, बाेरानाडा

कुल भाेजन पैकेट-60000 से ज्यादा

  • सेठ सांवरिया मित्र मंडल, जाेधपुर

भाेजन पैकेट-50000 से ज्यादा

  • श्री कृष्ण गोपाल सेवा समिति, राजीव नगर

भाेजन पैकेट-70000 से ज्यादा

  • डाॅ. भीमराव अंबेडकर मू्र्ति अनावरण समिति

भाेजन पैकेट-80000 से ज्यादा

  • श्री मारवाड़ प्रांतीय रावणा राजपूत सभा 

भोजन पैकेट-35000

  • श्री हिंदू सेवा मंडल, घंटाघर

भोजन पैकेट- 25000

  • श्री कलापूर्णा बाबा रामदेव भंडारा, हैवी इंडस्ट्रीयल एरिया

भाेजन पैकेट-180000

  • अर्जुनसिंह उचियारड़ा, होटल रेजिडेंसी, 

भोजन पैकेट-43698 

  • श्री महावीर युवा संघ, जोधपुर

भाेजन पैकेट-36000

  • सिंधु भवन, सरदारपुरा (झूलेलाल मंडली)

भाेजन पैकेट-135000

  • पर्ल इंटरनेशनल गार्डन

भाेजन पैकेट-10000

  • राधे गिरधर संस्था

भोजन पैकेट-14000

  • हीरालाल मुंडेल, पूर्व उप जिला प्रमुख, पाली रोड

भोजन पैकेट- 5000 (सूखी सामग्री) व 150000 पानी बोतलें

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना