पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उत्तर पश्चिम रेलवे के GM आनंद प्रकाश ने कहा:राइकाबाग से फुलेरा तक दोहरीकरण जून-22 तक पूरा होगा; डेगाना से जोधपुर तक कार्य का निरीक्षण किया

जोधपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उप रेलवे के महाप्रबंधक आनंद प्रकाश ने डीआरएम गीतिका पांडेय के साथ कार्यों का निरीक्षण किया। - Dainik Bhaskar
उप रेलवे के महाप्रबंधक आनंद प्रकाश ने डीआरएम गीतिका पांडेय के साथ कार्यों का निरीक्षण किया।

राइकाबाग से डेगाना व डेगाना से फुलेरा तक दोहरीकरण का कार्य प्रगति पर है। यह कार्य दो चरणों में चल रहा है। डबल लाइन का कार्य 35 से 40% फीसदी हो चुका है। राइकाबाग से बनाड़ को छोड़कर दोहरीकरण का कार्य अगले साल 30 जून 2022 तक पूरा कर लिया जाएगा। इसके अलावा विद्युतीकरण का कार्य भी 2023 तक पूरा कर लिया जाएगा।

उत्तर पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक आनंद प्रकाश शुक्रवार को डेगाना से जोधपुर तक का वार्षिक निरीक्षण करने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने बताया कि राइकाबाग से डेगाना व डेगाना से फुलेरा तक दोहरीकरण का कार्य आर्मी की आपत्ति के कारण राइकाबाग से बनाड़ के बीच अटका हुआ है। मकराना से मेड़ता तक का काम सितंबर 2021 तक पूरा कर लिया जाएगा।

स्टेशनों पर भीड़ कम करने के लिए प्लेटफार्म टिकट ‌50 किया

उन्होंने जोधपुर रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म टिकट 50 रुपए तक करने के पूछे गए सवाल पर कहा कि कोविड-19 की गाइडलाइन के अनुसार प्लेटफार्म पर अनावश्यक भीड़ को रोकने के लिए यह अधिकार डीआरएम को दिए गए हैं। यह व्यवस्था अस्थाई हैं, लेकिन अगर डीआरएम चाहें तो इसे वापस भी ले सकेंगे।

कोविड काल में रेलवे को 40 करोड़ की कमाई कम हुई

उन्होंने एक अन्य सवाल के जवाब में कहा कि कोविड काल में रेलवे को लगभग 40 हजार करोड़ तक कम कमाई हुई है। ट्रेनें नहीं चलने से रेलवे को अब तक सिर्फ 14 हजार करोड़ रुपए की आय ही हुई है। उत्तर पश्चिम रेलवे ने 62 करोड़ का रिफंड यात्रियों को लौटाया। इसके पहले रेलवे महाप्रबंधक आनंद प्रकाश शुक्रवार को सुबह सवा नौ बजे डीआरएम गीतिका पांडेय के साथ डेगाना से वार्षिक निरीक्षण शुरू किया।

खबरें और भी हैं...