HCL ,SRFI इंडियन टूर स्क्वैश चैंपियनशिप:इजिप्ट की अमीना और्फ़ी, भारत के अभय सिंह विजेता रहे

जोधपुर14 दिन पहले

जोधपुर में HCL, SRFI इंडियन टूर स्क्वैश चैम्पियनशिप में भारत के अभय सिंह ने खिताब जीता। वहीं महिला वर्ग में मिश्र की अमीना और्फी ने आइरा अजमान को हराकर खिताब जीता। जोधपुर में उम्मेदभवन पैलेस में आयोजित फाइनल मुकाबला बहुत रोचक रहा।

समापन समारोह में पूर्व राजपरिवार की सदस्य गायत्री राजे ने सम्मानित किया। जोधपुर में 17 से 21 नवंबर तक उम्मेद भवन पैलेस और बोधी इंटरनेशनल स्कूल में आयोजित एचसीएल-एसआरएफआई इंडियन टूर के दूसरे चरण में 9 देशों के 48 खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया ।

समापन समारोह में पूर्व राजपरिवार की सदस्य गायत्री राजे ने सम्मानित किया। जोधपुर में 17 से 21 नवंबर तक उम्मेद भवन पैलेस और बोधी इंटरनेशनल स्कूल में आयोजित एचसीएल-एसआरएफआई इंडियन टूर के दूसरे चरण में 9 देशों के 48 खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया ।
समापन समारोह में पूर्व राजपरिवार की सदस्य गायत्री राजे ने सम्मानित किया। जोधपुर में 17 से 21 नवंबर तक उम्मेद भवन पैलेस और बोधी इंटरनेशनल स्कूल में आयोजित एचसीएल-एसआरएफआई इंडियन टूर के दूसरे चरण में 9 देशों के 48 खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया ।

ऑल ग्लास कोर्ट में आयोजित फाइनल मैच को देखने का भी लोगों में खासा उत्साह नजर आया। ग्लास कोर्ट में खेले गए फाइनल में भारत से अभय सिंह ने मिश्र के जाहिद सलीम को 13-11, 7-11, 11-9, 11-8 से हराया। अभय ने पहला गेम जीता सलीम ने दूसरा गेम जीत कर स्कोर 1-1 से बराबर कर दिया।

बाद में शानदार गेम का प्रदर्शन करते हुए अभय ने दो सेट अपने नाम कर खिताब जीता। महिलाओं की श्रेणी में इजिप्ट की अमीना और्फ़ी ने मलेशिया की आयरा अजमान को को हरा कर विजेता बनी। दोनों ने 12000 डॉलर की श्रेणी में जीत हासिल की।

पुरुष वर्ग में फाइनल मैच अभय सिंह (वर्ल्ड रैंक 81) और जाहेद सालेम (वर्ल्ड रैंक 71) के बीच खेला गया, जहां भारत के अभय सिंह ने खिताब जीता। 46 मिनट तक चले मैच में 13-11, 7-11, 11-9, 11-8 में स्कोर बनाया। महिला वर्ग में फाइनल मुकाबला ऐरा आज़मान (वर्ल्ड रैंक 79) और अमीना और्फ़ि (वर्ल्ड रैंक 152 ) के बीच खेला गया, जहां इजिप्ट की अमीना और्फ़ि ने 40 मिनट तक चले मैच में 11-6, 11-9, 12-10 के स्कोर के साथ खिताब जीता।
पुरुष वर्ग में फाइनल मैच अभय सिंह (वर्ल्ड रैंक 81) और जाहेद सालेम (वर्ल्ड रैंक 71) के बीच खेला गया, जहां भारत के अभय सिंह ने खिताब जीता। 46 मिनट तक चले मैच में 13-11, 7-11, 11-9, 11-8 में स्कोर बनाया। महिला वर्ग में फाइनल मुकाबला ऐरा आज़मान (वर्ल्ड रैंक 79) और अमीना और्फ़ि (वर्ल्ड रैंक 152 ) के बीच खेला गया, जहां इजिप्ट की अमीना और्फ़ि ने 40 मिनट तक चले मैच में 11-6, 11-9, 12-10 के स्कोर के साथ खिताब जीता।

कार्यक्रम में एचसीएल ब्रांड के हेड और एसोसिएट वाइस-प्रेसिडेंट, रजत चंदोलिया, स्क्वैश रैकेट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसआरएफआई) के सचिव, साइरस पोंचा और 16 बार की राष्ट्रीय चैंपियन, पद्मश्री और अर्जुन पुरस्कार विजेता भुवनेश्वरी कुमारी भी उपस्थित थीं।

इस टूर्नामेंट में मलेशिया, हांगकांग, जर्मनी, श्रीलंका, मिस्र और भारत सहित 9 देशों के 48 खिलाड़ियों ने भाग लिया। भाग लेने वाले कुछ प्रमुख खिलाड़ियों में अभय सिंह, आकांक्षा सालुंखे, चेंग नगा चिंग, जाहेद सलेम, ऐरा आजमन हरिंदर पाल सिंह संधू और कई अन्य शामिल थे।

विजेताओं को बधाई देते हुए रजत चंदोलिया, एवीपी और हेड, एचसीएल ने कहा, "एचसीएल छह साल से अधिक समय से स्क्वैश का समर्थन कर रहा है। इसके अलावा, हमने 2019 में एचसीएल स्क्वैश पोडियम प्रोग्राम की शुरुआत की ताकि देश भर में प्रतिभा की पहचान की जा सके और मौजूदा स्क्वैश खिलाड़ियों को मौका दिया जा सके।

खिलाड़ियों ने ग्लास कोर्ट में मैच खेला। यह ग्लास कोर्ट विशेष रुप से मुंबई से मंगवाया गया।
खिलाड़ियों ने ग्लास कोर्ट में मैच खेला। यह ग्लास कोर्ट विशेष रुप से मुंबई से मंगवाया गया।

उन्होंने कहा कि पहली बार ऐतिहासिक शहर जोधपुर में पीएसए टूर का आयोजन किया जिसे सभी ने खूब सराहा। हमारे पिछले टूर्नामेंटों की तरह, इस बार भी टूर्नामेंट ने भारतीय स्क्वैश खिलाड़ियों की रैंकिंग में सुधार करने में मदद की और उन्हें अपने अंतरराष्ट्रीय प्रतिद्वंदियों के खिलाफ प्रतिस्पर्धा करने के लिए एक समान अवसर प्रदान किया।

एसआरएफआई के महासचिव, साइरस पोंचा ने कहा, "मैं रोमांचित हूं कि स्क्वैश ने प्रतिस्पर्धी खेल के रूप में लोकप्रियता हासिल की है क्योंकि हमारे खिलाड़ी वैश्विक मंच पर चमकते रहे। अभय, वेलावन और आकांक्षा सभी ने इस आयोजन में शानदार प्रदर्शन किया है और लगातार आगे बढ़ रहे हैं। उनकी रैंकिंग में सुधार है। उन्होंने टूर्नामेंट की डायरेक्टर सुरभि मिश्रा व सचिव धीरज सिंह का आभार जताया। राजेन्द्र मेहता, महेंद्र जैन व अनिल अग्रवाल ने स्वागत व संचालन किया।