पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोरोना पर भारी, पेट की आग:मजदूरी के लिए 500 किलोमीटर दूर हरियाणा से जुगाड़ की बाइक-ट्रॉली पर नौसर पहुंचा 18 सदस्यों का परिवार

नौसर(जोधपुर)10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नौसर में अभी करीब 120 लोग मजदूरी के लिए पहुंच चुके हैं

जुगलकिशोर सेवाल. दुनिया में हम आए हैं तो जीना ही पड़ेगा, जीवन है अगर जहर तो पीना ही पड़ेगा। जीवन जीने की मशक्कत पर फिल्माए गए इस गाने का उदाहरण रविवार को नौसर की सड़क पर दौड़ता दिखाई दिया। मारवाड़ क्षेत्र में अभी कपास की कटाई का काम चल रहा है।

मजदूरी के लिए करीब 500 किलोमीटर दूर हरियाणा से यह 18 सदस्यीय परिवार बाइक-नुमा जुगाड़ की ट्रॉली पर नौसर जा रहा था। घर से निकले ये लोग अपने साथ खाने-पीने का राशन, कपड़े, ईंधन सब साथ लेकर आए। नौसर में अभी करीब 120 लोग मजदूरी के लिए पहुंच चुके हैं। वहीं ओसियां तहसील क्षेत्र की बात करें तो यहां करीब 900 लोग कई गांवों के आसपास मजदूरी के लिए डेरा डाले हुए हैं।
एक किलो कपास कटाई पर 8 से 10 रुपए की मजदूरी, इस तरह दिनभर में प्रति सदस्य कमा लेता है 500-700 रुपए
इस परिवार को रोककर जब बातचीत की तो इन्होंने बताया कि हर साल कपास की सीजन के दौरान वे अपना गांव छोड़कर यहां आते हैं। सीजन खत्म होते ही ये वापस लौट जाते हैं। उन्होंने बताया कि यहां खेती हारी किसानों द्वारा प्रतिकिलो कपास की कटाई पर 8 से 10 रुपए दिए जाते हैं। इस तरह प्रतिव्यक्ति दिनभर मजदूरी कर करीब 500 से 700 रुपए कमा लेता है।

इस दौरान जितने दिन भी काम चलता है उतने दिन हम गांव के बाहर डेरा डालकर वहीं खाना-पीना-रहना करते हैं। भास्कर संवाददाता द्वारा जब उनसे कोरोना महामारी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि कोरोना का तो पता नहीं, सबसे पहले परिवार व खुद के पेट की भूख शांत करना जरूरी है, और जिंदा रहने के लिए ये सबकुछ करना ही पड़ेगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थितियां आपके पक्ष में है। अधिकतर काम मन मुताबिक तरीके से संपन्न होते जाएंगे। किसी प्रिय मित्र से मुलाकात खुशी व ताजगी प्रदान करेगी। पारिवारिक सुख सुविधा संबंधी वस्तुओं के लिए शॉपिंग में ...

और पढ़ें