पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • Farmers Flocked To Get Seeds For Sowing Of Moong And Bajra, Due To Increase In The Support Price Of Groundnut, The Trend Of Farmers Also Increased, There Was No Arrangement Of Seeds At The Village Level, As Soon As The Buses Started, They Turned Towards Jodhpur.

बीजों की खरीद पर जोर:मूंग व बाजरें की बुवाई के लिए बीज लेने उमड़े किसान, मूंगफली का समर्थन मुल्य बढ़ने से किसानों का रुझान भी बढ़ा

जोधपुर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बाजारों में दिखी किसानों की भीड़। - Dainik Bhaskar
बाजारों में दिखी किसानों की भीड़।

जोधपुर के आस-पास ग्रामीण क्षेत्र में जहां प्री मानसून की बरसात हुई। वहां के किसानों ने बुवाई की तैयारी कर ली है। आज गुरुवार को जैसे ही रोडवेज बसों का संचालन शुरु हुआ तो काफी तादात में किसान गांव से जोधपुर पहुंचे। जहां बीजों की खरीदारी की गई। इस दौरान पावटा स्थित खाद्य बीज की दुकानों और काजरी में काफी भीड़ नजर आई। किसान कृषि विश्वविद्यालय से भी बीज लेने पहुंचे। ग्रामीण क्षेत्र में सहकारी समिति स्तर पर गुणवत्ता युक्त बीज उपलब्ध नहीं होने से किसानों को शहर की ओर रुख करना पड़ रहा है। ऐसे में भीड़ एकत्र हो रही है।

ग्रामीण क्षेत्रों में जहां एक बरसात हो चुकी है, वहां किसान मूंग व बाजरे की बुवाई कर रहे हैं। वहीं, फलोदी, भोपालगढ, देंचू में कपास की खेती होती है। यहां सिंचाई की सुविधा है। ऐसे में किसानों ने बुवाई शुरु कर दी है।

बीजों की खरीद की गई।
बीजों की खरीद की गई।

2 लाख हैक्टेर मूंगफली की होगी बीजाई, समर्थन मूल्य बढ़ने से पैदावार बढ़ेगी

15 जून के बाद से मूंगफली की बीजाई शुरु होगी। करीब दो लाख हैक्टर क्षेत्र में बुवाई शुरु होगी। तिलहन के दाम बढ़ने और समर्थन मूल्य बढ़ने से किसानों में मूंगफली की बुवाई के प्रति रुझान बढ़ा है। सरकार ने समर्थन मूल्य पर 275 रुपए प्रति क्विंटल दाम बढ़ा दिए है। पहले 5,275 रुपए प्रति क्विंटल दाम थे 275 रुपए बढ़ने से अब 5हजार 550 रुपए हो गए है। ऐसे में अब किसान मूंगफली के पैदावार पर ज्यादा ध्यान दे रहा है।

भारतीय किसान संघ जोधपुर प्रांत के प्रांत प्रचार प्रमुख तुलछाराम सिंवर ने बताया कि किसान प्री मानसून की बरसात को लेकर उत्साहित है। कृषि आदान तैयारियों में जुटे हुए है। सिंचित क्षेत्र में कपास की बिजाई हुई है। मूंगफली की तैयारी चल रही है। समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी से मूंगफली के प्रति किसानों के रुझान बढ़ने की उम्मीद है। कोविड समय को देखते हुए ग्राम स्तर पर सहकारी समितियों में गुणवत्ता पूर्ण बीज, खाद की व्यवस्था की जानी चाहिए जिससे किसानों को शहर के चक्कर न लगाने पड़े।

खबरें और भी हैं...