पुलिस पर भारी बदमाश:फायरिंग व लूट के मामले : पुलिस आरोपियों को पकड़ नहीं पाई, नाकाबंदी के बावजूद भाग गए

जोधपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कमिश्नरेट के जिला पूर्व के दो व जिला पश्चिम का एक प्रकरण पुलिस के लिए सिर दर्ज बना हुआ है।(फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
कमिश्नरेट के जिला पूर्व के दो व जिला पश्चिम का एक प्रकरण पुलिस के लिए सिर दर्ज बना हुआ है।(फाइल फोटो)
  • सीसीटीवी कैमरों से आरोपियों की पहचान भी हो गई, फिर भी पुलिस लाचार

पुलिस लूट व फायरिंग के मामलों में लाचार नजर आई। पुलिस ने नाकाबंदी की। सीसीटीवी फुटेज में आरोपियों की पहचान भी कर ली गई, फिर भी पुलिस बदमाशों को गिरफ्तार नहीं कर पाई।...यह पुलिस की नाकामी तो बताती ही है, साथ ही बदमाशों के इससे हौसले बुलंद है।

कमिश्नरेट के जिला पूर्व के दो व जिला पश्चिम का एक प्रकरण पुलिस के लिए सिर दर्ज बना हुआ है। जिला पूर्व में पिस्तौल की नोक पर लूट व एक थाना इलाके में फायरिंग तो वहीं दूसरी ओर जिला पश्चिम के एक थाने में फायरिंग के आरोपी अभी भी पुलिस गिरफ्त से दूर है। वारदात के बाद पुलिस ने चुस्ती दिखाते हुए नाकाबंदी भी करवाई, वायरलेस पर तमाम पुलिस को चौंकना भी किया, लेकिन बावजूद इसके पुलिस के हाथ खाली ही रहे, बदमाश पुलिस को चकमा दे भागने में कामयाब हो गए।

ये 3 मामले- पुलिस कह रही प्रयास कर रहे, बदमाश हाथ नहीं आए

1. 18/11- घर में घुस पिस्तौल दिखा 2.3 लाख लूटे

राम मोहल्ला स्थित दामोदर कॉलोनी में 18 सितंबर की दोपहर में मंडी के व्यापारी कम आढ़तिया के घर के ऊपर बने कार्यालय में घुसे तीन नकाबपोश लुटेरों ने 2.10 लाख रुपए लूट लिए थे। ये वारदात व्यापारी मनीष डागा पुत्र मुरलीधर डागा के घर हुई थी। दोपहर सवा तीन बजे तीन बदमाश पहुंचे। मकान के ऊपर बने ऑफिस में व्यापारिक बातचीत की, फिर पिस्तौल दिखा दो लाख दस हजार रुपए लूट भागे।

मनीष डागा ने लूट की वारदात होते ही चंद मिनटों के बाद महामंदिर पुलिस को इसकी सूचना दी। एसीपी दरजाराम व थानाधिकारी लेखराज सिहाग टीम के साथ पहुंचे भी थे। हालात जाने और तुरंत नागौरी गेट पुलिस को भी मौके पर बुला लिया गया। इसमें थानाधिकारी राजूराम टीम के साथ पहुंचे। पुलिस ने सीसीटीवी खंगाले, नाकाबंदी भी करवाई, लेकिन कार सवार बदमाश भाग निकले।

पुलिस का कहना - नागौरी गेट थानाधिकारी राजूराम ने बताया कि सीसीटीवी खंगाले गए, बदमाशों की पहचान भी कर ली गई है, जल्द ही उन्हें गिरफ्तार भी कर लिया जाएगा।

2. 2/10- शराब ठेका के सेल्समैन पर फायरिंग
माता का थान में 2 अक्टूबर को शराब ठेकेदार के सेल्समैन पर फायरिंग की गई थी। फिर पुलिस मुस्तैद भी हुई, लेकिन बदमाश हाथ नहीं लग पाए। दरअसल, माता का थान निवासी प्रीतमसिंंह का एक शराब ठेका सारण नगर में चलता है। उसकी दुकान का सेल्समैन गौरव गत 16 सितंबर को रात में दुकान से लौट रहा था।

तब सारण नगर पुल पर सोनू और भरत नाम के दो शख्स से बोलचाल हुई और मारपीट हुई थी। इस पर सेल्समैन ने अपने परिचितों को बुला लिया था। मगर सोनू और भरत कार को छोड़कर भाग गए। इस पर सेल्समैन और उसके साथियों ने मिलकर कार को नुकसान पहुंचाते हुए शीशे फोड़ दिए थे। अब सोनू और भरत कार में हुए नुकसान की भरपाई की मांग कर रहे थे। शराब ठेकेदार प्रीतमसिंह ने एक दुकान माता का थान में किराए पर ले रखी है। यहा घटना हुई थी।

पुलिस का कहना - मंडोर थानाधिकारी सुरेश सोनी का कहना है कि बदमाशों की गिरफ्तारी के प्रयास के लिए जगह-जगह दबिश दी जा रही है, जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

3. 3 अक्टूबर- काबपोश 2 युवकों ने चलाई जमीन पर गोली

शहर के शास्त्रीनगर पुलिस थाना क्षेत्र में रेलवे डीएस कॉलोनी में सरकारी क्वार्टर के पास रविवार की देर रात एक बजे जमीन पर गोली चलाकर मोटरसाइकिल सवार दो युवक भाग गए। फायर से कॉलोनी में सनसनी फैल गई। रेलवे डीएस कॉलोनी में सर्वेंट क्वार्टर हैं, जहां रविवार रात एक बजे लोहे का दरवाजा सरकने से आवाज होने पर एक व्यक्ति जागा। वह दरवाजे के पास आया तो कुछ दूरी पर मोटरसाइकिल सवार दो नकाबपोश युवक नजर आए। इस बीच, एक युवक ने हथियार निकाला और जमीन पर गोली चला दी। फिर मोटरसाइकिल स्टार्ट कर दोनों युवक वहां से चले गए।

पुलिस का कहना- शास्त्रीनगर थानाधिकारी पंकज माथुर ने बताया कि सीसीटीवी खंगाले जा रहे हैं। बदमाशों की पहचान कर उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...