केवल अप्रैल माह में सर्वाधिक 411 मौतें:अप्रैल में पहली बार डिस्चार्ज 1021,34 मौतें 2036 पॉजिटिव

जोधपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गुरुवार को कई परिजनों को वार्ड में भर्ती मरीजों के लिए घर से पंखे लाने पड़े। - Dainik Bhaskar
गुरुवार को कई परिजनों को वार्ड में भर्ती मरीजों के लिए घर से पंखे लाने पड़े।

शहर में गुरुवार को 34 और कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई। वहीं 2036 नए पॉजिटिव आए और 1021 मरीज डिस्चार्ज हुए। इसके चलते अप्रैल में कुल संक्रमितों की मौत का आंकड़ा 377 पहुंच गया और 30487 मरीज पॉजिटिव हो चुके हैं। इधर 10775 मरीज ही डिस्चार्ज हुए हैं।

जबकि जनवरी से अब तक 33334 मरीज संक्रमित, 13149 मरीज डिस्चार्ज और 411 मरीजों की मौत हो चुकी है। बढ़ते संक्रमण और संक्रमितों की मौत के चलते डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. एसएस राठौड़ ने आमजन से अपील की है कि बहुत जरूरी होने पर ही घरों से बाहर निकलें क्योंकि वायरस का स्टेन बदल चुका है, वह बहुत ही घातक है।

मास्क और वैक्सीन ही बचाव के उपाय हैं। इधर, केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्रसिंह शेखावत के माता-पिता भी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गए हैं और उन्हें एम्स में भर्ती करवाया गया है।
पिछले चार दिन में 140 मौतें, इस माह 411 से अधिक
कोरोना काल में सबसे खतरनाक अप्रैल का महीना रहा। इसमें पिछले चार दिनों में 140 मौत हो चुकी हैं। जबकि शुरुआती 20 दिन में 113 संक्रमित मरीजों की मौत हुई। उसके बाद मौत का जो सिलसिला चला, वह रुकने का नाम नहीं ले रहा है। गत 9 दिनों में 264 संक्रमितों की माैत के साथ इस महीने 411 से अधिक मौतें हो चुकी हैं।

एमडीएमएच में 19, एमजीएच में 10 और एम्स में 5 संक्रमितों ने दम तोड़ा

एमडीएमएच में भर्ती पीपाड़ सिटी की गोगली देवी (43), गुड़ा विश्नोईयान की र्मिगा देवी (69), जोधपुर के कांतिलाल (61), फलोदी की गीता (56), ओसियां के रामेश्वर लाल (50), ईदगाह के प्रेम सिंह (62), पत्रकार कॉलोनी की उषा (48), जोधपुर की चंद्रकला (70), एयरफोर्स के अर्जुन (52), चौहाबो की शालू (50), खोखरिया के अशोक (52), विश्वकर्मा नगर की देवी (52), चौहाबो की कौशल्या (72), इंद्रा कॉलोनी की सरस्वती (40), राजीव गांधी कॉलोनी की संतोष (40)

कटला बाजार के सुंदरलाल (62), शास्त्रीनगर की कांता (65), फलोदी की सुखिया (35), रेजिडेंसी के ऋषिराज (35) की मौत हुई। एमजीएच में सोजती गेट के श्यामलाल (58), दाऊ की ढाणी के सुशील (63), महामंदिर की आनंदी देवी (70), बिलाड़ा के प्रकाश चंद (26), नागौरी गेट की सुमन (46)

प्रतापनगर की कमला (60), छाबड़ा खुर्द की गुमानी (80), दांतीवाड़ा की मुन्नीदेवी (35), कृष्णा नगर के विजय कुमार (58), पांचबत्ती की विमला देवी (59)। वहीं एम्स में सरस्वती नगर की निर्मला देवी (74), लक्ष्मी नगर की सीता चौधरी (77), रॉयल रेजिडेंसी पावटा की भंवरी कंवर (49), सरदारपुरा पांचवीं रोड की तरुणा माथुर (57), शास्त्रीनगर की डॉ. विनोद बाला (77) की मौत हुई।
सबसे ज्यादा शास्त्रीनगर में 348 पॉजिटिव
स्थानीय रिपोर्ट में 2036 पॉजिटिव बताए। इनमें शास्त्रीनगर में 348, मसूरिया में 250, मधुबन में 197, रेजिडेंसी में 195, बीजेएस में 143, प्रताप नगर में 94, शहर परकोटा में 66, महामंदिर 56 और उदयमंदिर 20 और संक्रमित मिले। ग्रामीण ब्लॉक में बनाड़ में 163, ओसियां में 161, सालावास में 101, बिलाड़ा में 68, भोपालगढ़ में 55, फलोदी में 50, बावड़ी में 38, बालेसर में 21 शेरगढ़ में 8 और बाप में 2 संक्रमित मिले।

खबरें और भी हैं...