फाइटर जेट मिराज का टायर चोरी:लखनऊ से जोधपुर लाए जा रहे थे पांच टायर, जाम में फंसे ट्रक से एक ले गए चोर

जोधपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान पाकिस्तान के अंदर घुसकर बम बरसाने के बाद सुर्खियां बटोरने वाले फाइटर जेट मिराज का टायर चोरी हो गया। लखनऊ से टायर लेकर जोधपुर एयर बेस आ रहे एक ट्रक से चोरों ने एक टायर गायब कर दिया। अब यूपी पुलिस फाइटर जेट के टायर चोर का पता लगाने में जुटी है। राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े इस मामले की जांच के लिए एक विशेष टीम गठित की गई है।

दरअसल, घटना लखनऊ की है। एक ट्रक ड्राइवर 29 नवंबर को लखनऊ के बख्शी का तालाब एयर फोर्स स्टेशन से एयरफोर्स का साजो सामान लेकर जोधपुर एयर बेस के लिए रवाना हुआ था। शहीद पथ से निकलने के दौरान रात एक बजे ट्रक जाम में फंस गया। अजमेर निवासी ड्राइवर हेम सिंह रावत का कहना है कि उस दौरान एक एसयूवी में सवार दो लोग ट्रक के आसपास घूम रहे थे।

ड्राइवर को यह संदेह है कि हो सकता है उन्होंने टायर चोरी किए हों। गुरुवार को जब ट्रक जोधपुर पहुंचा तो पता चला ट्रक में पांच के बजाय चार टायर ही पहुंचे हैं। ड्राइवर से पूछताछ की तो सामने आया कि लखनऊ से रवाना होने के बाद ट्रक जाम में फंस गया था। अब यह संदेह जताया जा रहा है कि उसी दौरान किसी ने इस वारदात को अंजाम दिया।

लखनऊ पुलिस को दी जानकारी, टीम गठित
एक टायर बीच रास्ते में चोरी होने से एयरफोर्स के अधिकारी तुरंत हरकत में आ गए। उन्होंने ड्राइवर से पूरी जानकारी ली। इसके बाद लखनऊ पुलिस को सूचना दी गई। लखनऊ के आशियाना पुलिस थाना प्रभारी धीरज शुक्ला का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। अलग टीम गठित कर टायर चोर का पता लगाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। यह देश की सुरक्षा से जुड़ा मसला है, इसलिए कोई कोताही नहीं बरत रहे हैं।

24 टन वजन सहन करता है टायर
जब फाइटर जेट के टायर चयन की बात सामने आती है तो दो चीज स्पीड और भार का विशेष ध्यान रखा जाता है। ये टायर सामान्य टायर और फार्मूला वन कारों के टायरों का मिश्रण होते हैं। मिराज फाइटर जेट के टायर का परीक्षण 420 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ने का होता है। इसके साथ ही यह टायर 24 टन भार वहन करने की क्षमता रखते हैं।

ये टायर रेगिस्तान के गर्म स्थान से लेकर बर्फीले स्थान पर एक समान अल्ट्रा हाई परफॉरमेंस देने वाले होने चाहिए। साथ ही नीचे उतरने के समय सबसे पहले फाइटर के टायर तेज रफ्तार के साथ जमीन को टच करते है। ऐसे में उस समय भार भी अधिक होता है। इन दोनों को सस्टेन करने वाले टायर बनाए जाते है।

लगभग 4 लाख रुपए का एक टायर
अब तक अधिकांश टायर विदेश से मंगाए जाते थे, लेकिन अब काफी फाइटर के टायर एमआरएफ देश में ही निर्माण करने लगी है। एक टायर की कीमत साइज के अनुसार अलग-अलग होती है। साढ़े पांच हजार डालर यानी लगभग 4 लाख रुपए का एक टायर पड़ता है। फाइटर जेट में अमूमन छोटे आकार के टायर लगाए जाते है। ताकि हवा में इंजन के पीछे इन्हें आसानी से छिपाया जा सके। फाइटर में तीन टायर होते हैं। दो पीछे थोड़े बड़े और आगे का एक छोटा टायर रहता है।

खबरें और भी हैं...